हाथों में खराब फसल लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे किसान, मुआवजे की मांग

बैतूल, वाजिद खान। जिले में अतिबृष्टि के चलते खरीफ की फसल खराब हो जाने से किसानों पर मुसीबत का पहाड़ टूट गया है । नाराज किसानों ने सोमवार को बैतूल कलेक्ट्रेट में धरना प्रदर्शन कर जमकर नारेबाजी की । हाथों में खराब फसल लेकर बड़ी संख्या में किसान बैतूल कलेक्ट्रेट पहुंचे और परिसर में धरना देकर नारेबाजी की । इस दौरान अधिकारियों को खराब फसल भी दिखाई । किसान और खेत मजदूर कांग्रेस के आव्हान पर धरना प्रदर्शन किया गया । इस प्रदर्शन में किसान खराब हुई फसल को हाथ में लेकर आए थे । बताया जा रहा है कि अतिवृष्टि के चलते खरीफ की फसलें जिनमें सोयाबीन, मक्का, उड़द, मूंग के अलावा सब्जी भी खराब हुई है ।

MP Breaking News

फसल खराब होने से किसानों पर बड़ा संकट आ गया है, किसानों ने मांग की है कि एक साल पहले शिवराज सिंह चौहान ने चालीस हजार रुपये प्रति हेक्टेयर मुआवजा देने की कांग्रेस सरकार से मांग की थी । आज वह स्वयं मुख्यमंत्री हैं तो उन्हें इसी हिसाब से मुआवजा देना चाहिए। इसके अलावा किसानों ने फसल बीमा की अवधि बढ़ाने और खराब हुई फसल का जल्द सर्वे कराने की मांग की है । नाराज किसानों ने खेतों से लाई खराब फसल को कलेक्ट्रेट के गेट के सामने जलाकर अपनी नाराजगी व्यक्त की और चेतावनी दी कि उनकी मांगे पूरी नहीं हुई तो उग्र आंदोलन किया जाएगा ।

MP Breaking News

किसान कांग्रेस अध्यक्ष रमेश गायकवाड़ का कहना है कि किसानों के सामने बड़ी समस्या खड़ी हो गई है। उनकी सोयाबीन की पूरी फसल खराब हो गई है। उसके बीमा और मुआवजे की मांग को लेकर प्रशासन को ज्ञापन सौंपा है। पिछली बार मुख्यमंत्री ने कहा था कि 40 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर मुआवजा दिया जाएगा, अब वह उन्हें मुख्यमंत्री बन गए हैं तो किसान ने किसानों को घोषणा के हिसाब से मुआवजा दें।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here