बैतूल: एलईडी  स्क्रीन लगाने के नाम पर लगाया करोड़ो का चूना, सपने दिखाकर ऐड कंपनी हुई फरार

कम्पनी ने यहां अपना जबरदस्त मायाजाल फैलाया। उसने लोगो से लाखों की रकम निवेश करवाई और एक लाख रुपये के निवेश प्रति माह 3 से 4 प्रतिशत की रकम बतौर बोनस देना शुरू कर दिया। इससे लोगों को लगा कि उनका पैसा सही हाथों में है। बस इसी विश्वास के दम पर कम्पनी लोगो को फांसती रही।

बैतूल, वाजिद खान| मध्यप्रदेश (Madhyapradesh) के बैतूल (Betul) में बड़े शहरों में विज्ञापनों के एलईडी स्क्रीन (LED Screen) चलाने का झांसा देकर बिजनेस पार्टनर बनाने वाली एक कम्पनी से बैतूल के सैकड़ो लोग ठगे गए है। यह खुलासा तब हुआ जब कम्पनी यहां से करीब पौने दो सौ लोगो का 12 से 15 करोड़ की रकम लेकर गायब हो गयी। परेशान निवेशक अब पुलिस (Police) के चक्कर लगा रहे है।

आरोप है कि आयुष एंटरप्राइजेस और एजीएम डिजिटल लिमिटेड नाम की कम्पनी ने बीते एक साल पहले यहां बिजनेस पार्टनर बनाने का सपना दिखाकर अपना बड़ा जाल फैलाया। कम्पनी ने लोगो को झांसा दिया कि वह बड़े शहरों में एलईडी स्क्रीन पर विज्ञापन का कारोबार करती है। जिसके कई शहरों में बड़े एलईडी होर्डिंग्स लगे हुए है। इन पर चलने वाले विज्ञापनों से उसे बड़ी इनकम होती है। कम्पनी ने इस झांसे में उलझाकर बैतूल में सैकड़ो लोगो को अपना बिजनेस पार्टनर बनाकर किसी से एक तो किसी से दो लाख यहां तक कि 25 -25 लाख इनवेस्ट करवा डाले। रकम 13 महीने में दुगनी करने का झांसा देकर निवेशकों को बाकायदा मैच्युरिटी डेट के चेक भी दिए गए।लेकिन जब यह तारीख आयी तो चेक एक एक कर बाउंस होना शुरू हो गए। कोई रकम निवेशकों को मिलती तब तक कम्पनी फरार हो चुकी थी ।अब परेशान लोग पुलिस के चक्कर लगा रहे है। पुलिस ने इस मामले में जांच के बाद कार्रवाई का भरोसा दिया है।

इसलिए आ गए झांसे में
कम्पनी ने यहां अपना जबरदस्त मायाजाल फैलाया। उसने लोगो से लाखों की रकम निवेश करवाई और एक लाख रुपये के निवेश प्रति माह 3 से 4 प्रतिशत की रकम बतौर बोनस देना शुरू कर दिया। इससे लोगों को लगा कि उनका पैसा सही हाथों में है। बस इसी विश्वास के दम पर कम्पनी लोगो को फांसती रही।

15 करोड़ की ठगी
बताया जा रहा है कि कम्पनी से ठगे गए लोगो मे पांच सैकड़ा से ज्यादा लोग है। जो धीरे धीरे सामने आ रहे है। आज 175 लोगों ने इसकी शिकायत की है। जिनका करीब 15 करोड़ रुपया डूब गया है। निवेशकों में।कोई एक लाख का इन्वेस्टर है तो कोई दो लाख का। एक इन्वेस्टर ने तो कम्पनी में 24 लाख का निवेश किया है।