बैतूल में नए साल पर पैदा हुईं बेटियों को उपहार में दिए राम लला के सोने और चांदी के लॉकेट

Amit Sengar
Published on -
betul

Betul News : बैतूल नूतन वर्ष पर आज जिला चिकित्सालय में अभिनव कार्यक्रम मां शारदा सहायता समिति द्वारा आयोजित किया गया। सर्वप्रथम जन्म लेने वाली बेटियों को भगवान राम के चरित्र को चिर स्मृतियों के रूप में संजोने बाल स्वरूप के राम लला की मूर्ति रूपी सोने व चांदी के लॉकेट भेंट किये।

बता दें कि इसका उद्देश्य लिंग अनुपात में सुधार करना एवं बेटी के माता-पिता को उच्च शिक्षा प्रदान करना है। इस योजना के माध्यम से विभिन्न प्रकार के प्रयास किये जायेंगे जिससे कि देश के नागरिकों की सोच में बेटी की छवि में सुधार हो सके। यह योजना भ्रूण हत्या प्रतिबंध में भी डेमोक्रेट साबित होगी। भगवान राम के लॉकेट भेंट करने का उद्देश्य है कि हमें जीवन मे उनके आदर्शों को अपनाते हुए नूतन वर्ष में चरित्रवान, आदर्श भाई, आज्ञाकारी, अच्छा मित्र, धैर्यवान, राष्ट्रप्रेमी, माता पिता प्रेमी, प्रकृति प्रेमी बनना चाहिए।

स्वच्छता प्रहरियों को किया सम्मानित

कार्यक्रम में जरूरतमंदों के लिए रक्तदान सेवा कार्य किया गया। वहीं ठंड को देखते हुए जिला चिकित्सालय को साफ रखने वाले स्वच्छता प्रहरियों को सम्मानित कर उन्हें कंबल वितरण सेवा कार्य भी किया गया। इस अवसर पर  विधायक हेमंत खंडेलवाल ने कहा कि स्वच्छता प्रहरियों ने कोरोना काल में जो सेवा दी उसे भुलाया नहीं जा सकता। स्वच्छता प्रहरियों का सम्मान सौभाग्य का विषय है। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि बेटी बचाओ के लिये नूतन वर्ष में जन्म लेने वाली बेटियों को सोने व चांदी के राम लला स्वरूप के लॉकेट भेंट करना सराहनीय पहल है। साथ ही आज रक्तदान शिविर भी लगाया गया जो बेहद प्रशंसनीय है। सम्मानित स्वच्छता प्रहरियों ने कहा कि जिनका कोई नहीं रखता ध्यान उनका आज सम्मान किया गया। यह सम्मान हमें और सेवा करने प्रेरित करेगा। धीरज हिरानी ने कहा कि सेवा करने के उद्देश्य से ही मैं प्रतिवर्ष इस कार्यक्रम में लॉकेट भेंट करके खुद को सौभाग्यशाली समझता हूं। बेटी नंदनी हिरानी को भी सेवा के उद्देश्य से एमबीबीएस कराया है ताकि वह लोगो की मदद कर सके।

betul news

betul news

इनको मिले सोने के लॉकेट

नेहा आमिर, कौशल्ल्या पति सोहन, शबीना पति शकील को सोने के व 13 अन्य बेटियों को चांदी के लाकेट भेंट किये। साथ ही 50 कंबल वितरण किये गए।

बैतूल से वाजिद खान की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News