रिश्वत लेते पंचायत इंस्पेक्टर और समन्वयक चढ़े लोकायुक्त के हत्थे..

बैतूल, वाजिद खान। बैतूल में लोकायुक्त ने जनपद के दो अधिकारियों को 35 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। मामला बैतूल के घोड़ाडोंगरी जनपद पंचायत में शुक्रवार को लोकायुक्त की टीम ने 35 हजार रुपए की रिश्वत लेते पंचायत इंस्पेक्टर और पंचायत समन्वयक को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि लोकायुक्त ने घोड़ाडोंगरी जनपद पंचायत में पदस्थ पंचायत समन्वय पी.सी त्रिपाठी और पंचायत इंस्पेक्टर प्रदीप ओगले को रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। दोनों अधिकारी ग्राम पंचायत आमडोह के सरपंच से जांच के नाम पर रिश्वत की मांग कर रहे थे। जिसकी शिकायत सरपंच ने लोकायुक्त की टीम से की थी।

सेंट्रल जेल में बंद आरोपी द्वारा सायबर हैकिंग का मामला, दो जेलर और सिपाही अटैच

लोकायुक्त भोपाल के इंस्पेक्टर मनोज पटवा का कहना है कि घोड़ाडोंगरी जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत आमढाना के सरपंच शंकर विश्वास ने लोकायुक्त भोपाल में 9 नवंबर को शिकायत की थी की जनपद पंचायत घोड़ाडोंगरी के पंचायत इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार अगले एवं पंचायत समन्वयक पीसी त्रिपाठी द्वारा जांच में जप्त किए गए रिकॉर्ड को वापस देने के नाम पर 50 हजार रुपये की मांग की गई थी। सत्यापन के दौरान यह शिकायत सही पाई गई। जिस पर आज दोनों अधिकारियों को 35 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है। दोनों के विरुद्ध नियम अनुसार कार्यवाही की जा रही है।