मंत्री की हुई किरकिरी जब अंधेरे में देना पड़ा भाषण

वाजिद खान/बैतूल।  मध्यप्रदेश के पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे की आज उस समय किरकिरी हो गयी। जब संस्कृति विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में उनके भाषण के दौरान 10 मिनट तक मंच पर बत्ती गुल हो गयी।जिसके चलते मंत्री को अंधेरे में ही अपना भाषण पूरा करना पड़ा। मंत्री यहां अपनी विधानसभा मुलताई में आयोजित ताप्ती महोत्सव में भाषण दे रहे थे। जिसका आयोजन उन्होंने ही संस्कृति विभाग से करवाया है। बैतूल स्थित मुलताई में आज ताप्ती महोत्सव के शुभारंभ के मौके पर उस समय हड़कम्प मच गया जब पीएचई मंत्री भाषण दे रहे थे और ,अचानक बिजली  गुल हो गयी।

मंत्री की हुई किरकिरी जब अंधेरे में देना पड़ा भाषणताप्ती महोत्सव के शुभारम्भ के बाद जब कार्यकम को पीएचई मंत्री और मुलताई विधायक सुखदेव पांसे कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे, उसी दौरान मंच की बिजली चली  गई। इससे पुरे पर मंच और आसपास अँधेरा छा गया। इससे।मची अफरातफरी के बीच कार्यक्रम में आये दर्शकों ने अपने मोबाइल के फलेश लाइट जलाकर कार्यक्रम स्थल पर उजाला किया। इस बीच मंत्री अंधेरे में ही भाषण देते रहे। कार्यक्रम में  लगभग 10 मिनट तक अँधेरा छाया रहा, जिसके बाद बिजली शुरू हो पाई। बाद में पता चला कि मंच और कार्यक्रम के लिए जनरेटर्स से बिजली की व्यवस्था की गई थी। जिसमे खराबी के चलते यह हुआ। कार्यक्रम में इस अव्यवस्था को मंत्री जी की किरकिरी के रूप में देखा जा रहा है।दरअसल। ताप्ती महोत्सव का यह आयोजन मंत्री पांसे ने संस्कृति विभाग के जरिये करवाया है। जिसके लिए वे व्यक्तिगत रुचि ले रहे थे।तीन दिवसीय इस आयोजन में आज  अप्पानाथ (जोधापुर) द्वारा मांगणियार गायन एवं कालबेलिक्ष नृत्य, सुश्री ऋतु भावे (नागपुर) द्वारा लावणी नृत्य, श्री दयाराम सरोलिया (देवास) द्वारा कबीर गायन, श्री शशिकुमार पाण्डेय (रीवा) द्वारा बघेली लोक गायन और श्री विशाल कुशवाहा (उज्जैन). दूसरे दिन कल 28 फरवरी को सुश्री रिचा शर्मा एवं मुम्बई ग्रुप द्वारा सुगम संगीत की प्रस्तुति होगी। महोत्सव में अंतिम दिन 29 फरवरी को अखिल भारतीय कवि सम्मेलन होगा।