कुत्ते के विवाद को लेकर महिला की पिटाई, पीड़िता का आरोप निर्वस्त्र कर दबंगो ने पीटा

महिला को किया जिला चिकित्सालय में भर्ती,पुलिस ने बनाया काउंटर केस , दबंगो ने दी परिवार को धमकी

बैतूल, वाजिद खान। जिले की एक आदिवासी महिला ने गांव के दबंगों पर कुत्ते को लेकर हुए विवाद को लेकर मारपीट का आरोप लगाया है। महिला का यह भी आरोप है कि मारपीट में उसके कपड़े फाड़ दिए जिससे वो निर्वस्त्र हो गई और उसके बाद भी उसकी पिटाई की गई जिसके बाद उसे जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। पुलिस ने दोनों पक्ष पर काउंटर केस दर्ज किया है इसमें दूसरे पक्ष से एक सत्रह साल के नाबालिग सहित दो महिलाएं शामिल है। बैतूल के चिचोली तहसील के ग्राम चूड़िया में एक आदिवासी महिला गांव के दबंगों का शिकार बन गई, घटना 28 सितंबर की बताई जा रही है । कुत्ते को लेकर उपजा विवाद इतना बढ़ा कि दबंग परिवार ने मिलकर न ही आदिवासी महिला के साथ मारपीट की बल्कि उसे पीटते-पीटते बीच सड़क पर उसे निर्वस्त्र भी कर दिया गया। घायल महिला का उपचार जिला अस्पताल में किया जा रहा है तो वही पुलिस ने दोनो पक्षों पर काउंटर केस दर्ज कर घटना की जांच शुरू कर दी है। घटना के बाद पीड़ित परिवार पर समझौते का दबाव भी बनाया गया था ।

जिला अस्पताल में भर्ती पीड़ित महिला रेखा बाई ने बताया कि कुत्ते को लेकर गांव के ही  दबंग परिवार के सत्रह साल के नाबालिग से कुत्ते को मारने को लेकर कहा-सुनी हो गई थी और विवाद शांत भी हो चुका था। लेकिन गांव के दबंग परिवार के नाबालिग और महिलाओं द्वारा घर में घुसकर उसके साथ मारपीट की गई। यह ही नहीं उसे घर से निकालकर बीच सड़क पर लाया गया और उसके कपड़े तक फाड़ दिये गये। महिला का आरोप है कि दबंग परिवार के मुखिया ने परिवार सहित उड़ा देने की धमकी भी दी है।

इस पूरे मामले को लेकर पुलिस का कहना है कि घटना कि सूचना मिलने के बाद दोनो पक्षों पर मामला दर्ज किया गया था, जिसमे दूसरे पक्ष से एक सत्रह साल के नाबालिग और दो महिलाएं है । नाबालिग को सर में चोट लगी है। पुलिस को जब इस तथ्य की जानकारी मिली की आदिवासी महिला के साथ कपड़े तक फाड़ दिये गये थे तो अस्पताल पहुंचकर महिला के बयान लिये गये है और धाराओं में भी इजाफा करने के साथ-साथ एससीएसटी एक्ट के तहत भी मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने घटना को लेकर पहले सिर्फ मारपीट का मामला दर्ज किया था लेकिन जब एसपी से शिकायत की गई तब मामले में छेड़छाड़ की धारा भी लगाई गई ।

पीड़ित महिला रेखा का कहना है कि कुत्ते को लेकर पड़ोसी से विवाद हुआ था और पड़ोसी आये और मुझे खींच कर बाहर ले गए मेरी साड़ी और कपड़े फाड़ दिए उसके बाद मेरे साथ मारपीट की गई इनसे पहले से कोई विवाद नहीं था। शाहपुर के एसडीओपी महेंद्र सिंह मीणा का कहना है कि 28 सितंबर को दो पड़ोसियों के बीच कुत्ते को मारने को लेकर विवाद हुआ था, जिसमें पीड़ित महिला के कुत्ते को पड़ोस के एक नाबालिग लड़के ने पत्थर मार दिया था। उसी को लेकर विवाद हुआ था इसी को लेकर मारपीट में महिला के कपड़े फट गए थे दोनों पक्षों पर मामला दर्ज किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here