संकट की घड़ी में युवा यूं निभा रहे अपनी जिम्मेदारी

बैतूल।वाजिद खान।

एक और जहां कोरोना के प्रकोप से लोग दहशत में हैं, वहीं दूसरी ओर शहर में लॉकडाउन होते हुए भी रक्त वीरों ने रक्तदान कर दो लोगों की जिंदगी बचाने का सराहनीय कार्य किया है । जिले में रक्तवीरो ने ठाना है कि वे ज़िला अस्पताल में रक्त की कमी नही होने देंगे और कोई मुश्किल उनका हौसला कम नही कर पाएगी।

यही कारण है कि ज़िला अस्पताल में आकर ही रक्त दाता आकर रक्त दान कर रहे है। ज़िला अस्पताल में रक्तदान में दिक्कत ना आए इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने एक पहल शुरू की है । जिसमे रक्त दाता को उसके घर से ब्लड बैंक लाने और वापस ले जाने के लिए वाहन का इंतज़ाम किया गया है।

कोरोना वायरस के संक्रमण से लोगों के बचाव में लगे होने के कारण स्वास्थ्य विभाग द्वारा रक्त दान शिविरों का आयोजन नहीं किया जा रहा है। लेकिन मरीज़ों को रक्त की आवश्यकता में कमी ना हो पाए इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने चालित रक्त दान वाहन शुरू किया है ।

डॉ अंकिता सीते ने बताया कि जो भी रक्त दाता रक्त दान करने का इच्छुक है उसे रक्त दान किए जाने की सूचना 2 से 3 दिन पहले ज़िला अस्पताल की ब्लड बैंक में देनी होगी ताकि वाहन रक्त दाताओं की बताएं पते पर पहुंच सके ।

इस वाहन के जरिए रक्त दाता ज़िला अस्पताल में ब्लड बैंक आकर रक्त दान करेंगे और वाहन से उन्हें वापस उनके घर छोड़ा जाएगा । कुछ रक्त दान समिति जो रक्त दान शिविर लगाती थी, लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण के चलते उनका शिविर नही हो पाया था इसलिए उन्होंने रक्त दान की इच्छा जताई थी । इन रक्तदाताओं को चार चार की संख्या में तीन बार लाया गया और उन्होंने ज़िला अस्पताल के ब्लड बैंक में रक्तदान किया। रक्त दान के दौरान पूरी सावधानी बरती गई सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा गया ।