भिण्ड – @ गणेश भारद्वाज|

चंबल संभाग के जिलों की कोविड-19 की रिकवरी रेट सबसे अच्छी है क्योंकि यहां के लोगों का इम्यूनिटी पावर बेहतर है और लोग आत्मविश्वास से लवरेज हैं। कोविड-19 को लेकर जो प्रचार प्रसार शासन प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के द्वारा किया गया है उसका परिणाम है कि लोग जागरूक हुए हैं। यह बात चंबल संभाग के कमिश्नर रविंद्र कुमार मिश्र ने अपने दो दिवसीय भिंड दौरे के प्रथम दिवस जिला अस्पताल का निरीक्षण करने के दौरान कही। कमिश्नर श्री मिश्रा आज चंबल के बीहड़ में अटेर का किला देखने पहुंचे और संभाग के लोगों की खुशहाली के लिए भिण्ड नगर स्तिथ प्राचीन मंदिर पहुंचकर भगवान वनखंडेश्वर महादेव की पूजा अर्चना की। कमिश्नर श्री मिश्रा के साथ कलेक्टर वीरेंद्र कुमार रावत व एसपी मनोज सिंह रहे।

जिला चिकित्सालय में निरीक्षण के दौरान कमिश्नर श्री मिश्रा के साथ जिला स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी डॉ अजीत मिश्रा ,डॉ अनिल गोयल, डॉ देवेश शर्मा व डॉ आर के राजोरिया मौजूद रहे। कल सोमवार को यहां पर कमिश्नर श्री मिश्रा कोविड-19 जांच मशीन का शुभारंभ करेंगे। श्री मिश्रा ने जिला चिकित्सालय का भ्रमण करने के पश्चात मीडिया से बात करते हुए कहा कि जिस प्रकार से आज हमने 14 कोविड-19 लोगों को स्वस्थ कर रवाना किया है उसी उसी प्रकार अन्य संक्रमित मरीजों को भी स्वस्थ कर हम जिला चिकित्सालय से घर के लिए रवाना करेंगे। श्री मिश्रा ने कहा कि चंबल संभाग के प्रत्येक जिले में कोरोना मरीजों की संख्या 100 के ऊपर पहुंची है लेकिन प्रदेश में हमारे संभाग की रिकवरी रेट सबसे अच्छी है।

भिंड में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर पहुंची 118 पर
भिँड में पिछले 38 दिनों से लगातार कोरोना संक्रमित लोगो की संख्या बढ़ती जा रही है लेकिन यहां का रिकवरी रेट भी 70% से अधिक है अब तक कुल कोरोना से पीड़ित लोगों की संख्या 118 है वही 82 लोग स्वस्थ होकर अपने घर वापस लौट चुके हैं अब जिला चिकित्सालय में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 36 हो गई है। ज्ञात हो कि जिले में एक लाख से अधिक श्रमिक मजदूर देश के महानगरों से वापस लौटे हैं यही वजह है कि यहां पर लॉक डाउन के पहले 45 दिन में कोई भी कोरोना पॉजिटिव सामने नहीं आया था। लेकिन 8 मई से एक संदिग्ध के पॉजिटिव होने के साथ अब यह संख्या बढ़कर 118 पर पहुंच गई है।