भिंड में आज भी याद किये जाते हैं इलैया राजा, अब संभालेंगे रीवा की कमान

भिण्ड @ गणेश भारद्वाज| अक्टूबर 2016 में भिंड कलेक्टर बने इलैयाराजा करीब ढाई साल तक जिले के कलेक्टर रहे, यहां पर तत्कालीन कलेक्टर इलैयाराजा टी के द्वारा विकास के अनेक आयाम गढ़े गए। जिसमें जिले में शिक्षा के क्षेत्र में नकल के दाग को मिटाना, स्वास्थ्य के क्षेत्र में भिंड जिला अस्पताल को प्रदेश में अब्बल बनाना और भिंड नगरपालिका की स्वच्छता रेटिंग में 300 अंकों से अधिक का सुधार करना प्रमुख बातें रहीं। इस के बाद अपना पूर्ण कार्यकाल करने के बाद इलैयाराजा को स्थानांतरित करके भोपाल भेज दिया गया। इसके बाद से लगातार भिँड में करीब चार कलेक्टर बदल चुके लेकिन भिँड के जनमानस की हमेशा ही इच्छा रही कि उन्हें आईएएस इलैया राजा टी का नेतृत्व एक बार फिर मिले।

कांग्रेस सरकार गिरने के बाद जब भाजपा सरकार आई तो भिंड में बड़ी जोरदार अफवाह फैली कि अब भिंड कलेक्टर दोबारा से इलैयाराजा टी होंगे , लेकिन ऐसा नहीं हो सका। आज भी आईएएस इलैया राजा टी का जुड़ाव भिँड और भिण्ड के लोगों से है वे सोशल मीडिया के माध्यम से यहां के लोगों से और यहां के सामाजिक कार्यकर्ताओं से लगातार जुड़े हुए हैं। लोग जब भी भोपाल जाते हैं तो श्री राजा से निश्चित की मुलाकात करके लौटते हैं और श्री राजा के द्वारा उन्हें उतना ही प्यार मिलता है जितना कि भिँड की जनता ने उनको दिया था। भिँड से जब श्री राजा का स्थानांतरण हुआ था तो यहां के जनमानस के द्वारा उनका ऐतिहासिक विदाई समारोह आयोजित किया था। जो कि इतिहास बन गया। तब से भिँड के लोगों की इच्छा थी कि एक बार फिर से इलैया राजा टी भिंड के कलेक्टर बने। लेकिन ऐसा नहीं हो सका। राज्य शासन ने शनिवार को इलैयाराजा को रीवा कलेक्टर बनाया है| इससे भिंड का जनमानस एक ही शब्द बोल रहा है कि किस्मत खुल गई रीवा की । भिँड के व्हाट्सएप ग्रुप्स पर आईएएस इलैया राजा टी को बधाइयों का तांता लग गया है।