पटवारियों के लिए ऐप बना जानलेवा कही लगा करेंट तो कही मिला अजगर

भिंड, सचिन शर्मा। गिरदावरी एप से फसलों के सर्वे के दौरान पचेरा के पटवारी को करंट लग गया। जिसे वो घायल हो गए। वहीं महिला पटवारी को फीडिंग करते समय खेत की मेड़ पर 15 फिट लम्बा अजगर दिख गया। दोनों पटवारियों ने अपने साथ हुई अपबीती अन्य पटवारियों को बताई, जिससे पटवारियों में दहशत का माहौल है। मेहगांव इलाके के पटवारियों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर एप से जियो टैग हटाने की मांग की है।

पटवारियों के लिए ऐप बना जानलेवा कही लगा करेंट तो कही मिला अजगर

यह भी पढ़े.. MP Government Jobs 2022 : मध्य प्रदेश सरकार ने निकाली कई क्षेत्रों में बम्पर भर्ती, पढ़े पूरी खबर

खेतों में पैदा होने वाली फसलों को फीड कराने का जिम्मा पटवारियों को सौंपा है, जिससे पटवारियों को खेत जाकर फसलों की फोटो खींचकर एप में फीड करना पड़ रहा है।  इस दौरान उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल, मेहगांव इलाके के पचेरा हल्का के पटवारी सौरभ पचौरी कोटवार को लेकर फसलों का सर्वे कर रहे थे, तभी दोनों आवारा पशुओं से फसल को बचाने के लिए लगाए गए करंट की चपेट में आ गए और घंटों वहीं बेहोश पड़े रहे। बाद में होश आने पर उन्होंने अपने साथियों को सूचना दी, वहीं दूसरी ओर गोहद क्षेत्र के धमसा हल्का पटवारी रुचि गुप्ता को सर्वे के दौरान एक खेत की मेड पर 15 फुट लंबा अजगर दिख गया, जिससे वो दहशत में आ गईं। वहीं पटवारी संघ ने मेहगांव एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर एप में सुधार कर जिओ टैग को हटाने की मांग की है।
पटवारियों के लिए ऐप बना जानलेवा कही लगा करेंट तो कही मिला अजगर