Beating-the-CMHO-who-took-action-on-fake-doctor

भिण्ड।

मध्यप्रदेश के भिंड जिले में ग्रामीणों ने फर्जी डॉक्टर पर कार्रवाई  करने गई डॉक्टरों की टीम पर हमला कर दिया और सीएमएचओ की पिटाई कर दी। इस दौरान ग्रामीणों ने सीएमएचओ पर 10 हजार की रिश्वत लेने का भी आरोप लगाया है। जैसे तैसे करके सीएमएचओ और उनकी टीम ग्रामीणों के चंगुल से जान बचाकर निकले। वही सीएमएचओ डॉ. जेपीएस कुशवाह ने सभी आरोपों को झूठ बताया और कार्रवाई के लिए पुलिस को पत्र दिया है। पुलिस ने उन्हें मारपीट करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज करने की बात कही है।

दरअसल, मामला दो दिन पुराना है। फर्जी डॉक्टर कन्नाोजिया के इलाज से 26 जून 2018 को रामदत्त पुत्र रबूदे बघेल गुलाल पुरा की मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने फर्जी डॉक्टर के खिलाफ केस दर्ज किया था। बाद में पुलिस ने कन्नाोजिया को गिरफ्तार कर जेल भिजवा दिया था। जमानत मिलने के बाद जेल से बाहर आकर कन्नाोजिया ने फिर से क्लिनिक को खोल लिया था।जब इस बात की खबर जैसे ही सीएमएचओ को मिली तो जिला स्तरीय छापामार दल वहां कन्नाौजिया की क्लिनिक को सील करने पहुंचा। जैसे ही दल कार्रवाई के लिए उतरा उसी दौरान 100 के करीब ग्रामीणों ने उन्हें चारों तरफ से घेर लिया। 

भीड़ से घिरा देखकर दल में शामिल डॉ. शिवराम कुशवाह, डॉ. आरके दुबे, बाबू अजेंद्र कुशवाह, चपरासी दाताराम बोलेरो में बैठ गए। ड्राइवर दिनेश सिंह ने गाड़ी स्टार्ट कर ली, लेकिन ग्रामीणों की भीड़ ने गाड़ी को घेर लिया। ग्रामीणों ने जबरन गेट खोलकर सभी को नीचे उतरने के लिए कहा।जब कोई भी नीचे नही उतरा तो ग्रामीणों ने ड्राइवर, डॉ. दुबे ,डॉ. शिवराम कुशवाह और बाबू अजेंद्र कुशवाह को  अभद्रता करते हुए गाड़ी से खींचा और बाहर निकाल लिया।इसके बाद ग्रामीणों ने पहले तो उनके साथ   धक्का-मुक्की और फिर जमकर पिटाई लगा दी।हैरानी की बात तो यह है कि जब यह पूरा तमाशा चल रहा तो पुलिस भी मौके पर नही पहुंची और ग्रामीणों डॉक्टरों की पिटाई करते रहे। जैसे तैसे सभी अपनी जान बचानकर भागे ।इस दौरान ग्रामीणों ने सीएमएचओ समेत सभी पर दस हजार कि रिश्वत लेने का आरोप लगाया।  वही सीएमएचओ डॉ. जेपीएस कुशवाह ने सभी आरोपों को झूठ बताया और कार्रवाई के लिए पुलिस को पत्र दिया है।