Bhind News : 50 हजार रूपए के लिए बेटी की करा दी थी शादी, आरोपी मां गिरफ्तार

फिलहाल पिता की गैरमौजूदगी होने के कारण नाबालिक को बाल कल्याण विभाग भेज दिया गया है।

भिंड, सचिन शर्मा। भिंड (Bhind) में मात्र 50 हजार रुपयों के लिए कलयुगी माँ ने अपनी बेटी को बेच उसकी शादी करा दी थी। बाद में अपनी करतूत छुपाने के लिए आरोपी महिला ने पुलिस को अपहरण की झूठी कहानी बता कर मामला दर्ज करवाया था। जिसके बाद पुलिस ने मामले के खुलासा कर करने मां को ही गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने Ipc, pocso, scst act, तथा बाल विवाह अधिनियम 2006 के तहत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर उसे जेल भेज दिया है।

यह भी पढ़ें…Bhopal News : चंदा लेने के बहाने में नाबालिग से गैंगरेप, 3 गिरफ्तार

क्या है पूरा मामला
पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि 12 सितंबर को महिला लक्ष्मी बरारी रावतपुरा थाने आई थी। जहां उसने अपनी बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। जिसके बाद पुलिस ने त्वरित कार्रवाई कर लड़की को ढूंढ निकाला। वहीं बाद ने नाबालिग ने चौंकाने वाले खुलासे किए।

मां ने ही किया था सौदा
नाबालिक लड़की ने बताया कि उसके पिता की गैरमौजूदगी में उसकी मां ने उसका सौदा कर उसकी शादी करा दी थी। वहीं जब इस बारे में आरोपी महिला से पूछा गया तो उसने बताया कि उसका पति मोहन बरार और वह नरोल निवासी हैं। अपने बच्चों के साथ रहते हैं और दोनों मजदूरी करते थे। कोरोना में लॉकडाउन लगने के कारण उन्हें कहीं काम नहीं मिल रहा था। अपने परिवार को आर्थिक तंगी में जूझता देख महिला का पति अहमदाबाद जाकर मजदूरी करने लगा। जिसके बाद लक्ष्मी ने अपनी 13 वर्षीय नाबालिक लड़की का सौदा उसकी उम्र से 2 गुना ज्यादा वाले व्यक्ति रामू शर्मा से तय कर दिया।

ऐसा रचा षड़यंत्र
महिला ने घर में ऐसा षड्यंत्र रचा कि कोई उसपर शक ना करें। महिला ने पहले रामू शर्मा को अपने घर बुलाया और अपनी नाबालिग बेटी को उसके साथ मोटरसाइकिल से अपने खेत जाने को कहा। मां की बात सुनकर वह राम उसके साथ जाने के लिए तैयार हो गई। लेकिन उसे क्या पता था कि मां के इरादे क्या है। जैसे ही रामू लड़की को लेकर खेत पर बनी कोठी पर पहुंचा, तो नाबालिग वहां शादी का मंडप सजा देखा तो वह चौंक गई। जब तक वह कुछ समझ पाती उसकी मां ने उसी शादी करने को कहा, जब उसने शादी करने से विरोध किया तो लक्ष्मी ने उसे डरा धमका कर शादी कर दी।

तीन दिन तक करता रहा बलात्कार
आरोपी लक्ष्मी ने अपनी बेटी को 50 हजार रुपए के लिए जबरदस्ती शादी करवाकर उसे रामू शर्मा के साथ भेज दिया। जिसके बाद रामू ने नाबालिक के साथ 3 दिनों तक दुष्कर्म किया और उसे दिल्ली ले कर भाग गया। वहीं जब नाबालिक का पिता मोहन अपनी पत्नी से बेटी की बात करवाने को कहता तो वह बहाना बना देती। वहीं जब लक्ष्मी को पता चला कि रामू उसकी बेटी को लेकर तो उसने डर के मारे रावतपुरा थाने में जाकर अपनी बच्ची की झूठी अपहरण की शिकायत कराई। जिसके बाद पुलिस ने इस पूरे मामले का खुलासा किया।

फिलहाल पिता की गैरमौजूदगी होने के कारण नाबालिक को बाल कल्याण विभाग भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें… जब चला कानून का डंडा तो दी Dancing Girl ने दी सफाई