दो दिन से चल रहे धरने पर भाजपा नेता ने लगया पूर्ण विराम, CMO को दिए दिशा-निर्देश

भिंड, डेस्क रिपोर्ट। गरीबों की बहतरी के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार द्वारा बहुत सी योजनाएं चलाई जा रही है। वहीं पीएम मोदी की प्रधानमंत्री अवास योजना के तहत कई हितग्राहियों को घर उपलब्ध कराएं गए पर कुछ हितग्राही कुछ कारण के चलते योजना के अंतर्गत दूसरी और तीसरी किश्त का भुगतान करने में असमर्थ रहे, जिसके कारण उन्हें प्लॉट नहीं मिल पाया। इस कारण के चलते भिंड में हितग्राहियों ने अशोक गोयल के नेतृत्व में नगर पालिका परिसर में दो दिन का धरना शुरु किया है। धरने की जानकारी लगते ही भाजपा के वरिष्ठ नेता डॉ रमेश दुबे तत्काल नगरपालिका परिसर पहुंचे, जहां उन्होंने हितग्राहियों की सारी मांग सुनी और उनके साथ सीएमओ कार्यालय भी गए।

दो दिन से चल रहे धरने पर भाजपा नेता ने लगया पूर्ण विराम, CMO को दिए दिशा-निर्देश

वहीं भाजपा नेता रमेश दुहे ने सीएमओ से बात करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजन देश के पीएम नरेंद्र मोदी का सापना है। इस योजना के अंतर्गत जो पात्र हितग्राही है उन्हें हर हाल में घर दिए जाए। साथ ही उन्हें किसी भी प्रकार की कोई समस्या ना आए इस बात का भी ख्याल रखा जाए। जो लोग इस योजना के लिए अपात्र हैं, उनकी जांच कर बाहर करने के लिए भी भाजपा नेता ने कहा है। आगे डॉ. दुबे ने आदेश दिए कि जिन लोगों को प्लॉट नहीं मिले हैं, उन्हें प्लॉट दिए जाएं और जिन लोगों को घर बनाने के लिए दूसरी एवं तीसरी किश्त जारी नहीं की गयी है, उन्हें बिना विलम्ब किये किश्त जारी की जाए।

दो दिन से चल रहे धरने पर भाजपा नेता ने लगया पूर्ण विराम, CMO को दिए दिशा-निर्देश

भाजपा नेता की मांग पर सीएमओ ने आश्वासन देते हुए कहा कि जिला कलेक्टर के द्वारा आज ही एक कमेटी बनवाकर 7 दिवस में जांच पूरी करके 10 दिन के अंदर पात्र हितग्राहियों को प्लॉट उपलब्ध करा दिए जाएंगे। साथ ही जिन हितग्राहियों की किश्त रुकी हुई हैं, उनके खाते में राशि भेज दी जाएगी। सीएमओ ने डॉ. रमेश दुबे को जानकारी देते हुए बताया कि निर्धारित जगह पर कई लोगों के द्वारा अवैध कब्जा किया हुआ था, उन कब्जेधारियों को बेदखल कर 450 प्लॉट गरीबों को आवंटित करने की नगरपालिका की पूरी तैयारी है। डॉ.रमेश दुबे के आश्वासन के बाद हितग्राहियों ने धरना खत्म कर दिया। इस मौके पर श्यामकिशोर वाजपेयी, वीरेंद्र शिवहरे पार्षद,योगेंद्र चौहान, रवि,कल्लू दुबे आदि सहित अन्य सहयोगी मौजूद रहे।