VIDEO: भाजपा सांसद को कार्यकर्ताओं ने बोलने नहीं दिया, भाषण बीच में रोकना पड़ा

bjp-leaders-against-mp-bhagirath-prasad-speech-had-to-be-stopped-in-the-middle

भोपाल/भिंड| लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी भाजपा के लिए सांसदों के खिलाफ उनके ही क्षेत्र में बढ़ी नाराजगी ने चिंता बढ़ा दी है| यही कारण है कि एक दर्जन से अधिक सीटों पर चेहरे बदलने की मांग उठ रही है| इस बीच भिंड-दतिया संसदीय क्षेत्र के बूथ पालकों और संयोजकों के सम्मेलन में क्षेत्रीय सांसद डॉ भागीरथ प्रसाद का कार्यकर्ताओं ने खुला विरोध कर दिया| कार्यकर्ताओं ने सांसद को बोलने नहीं दिया, जमकर हूटिंग की| इस दौरान सांसद को अपना भाषण बीच में ही रोकना पड़ा| इस अवसर पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, प्रदेश प्रभारी वेदप्रकाश शर्मा, पूर्व मंत्री चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी, सम्मेलन के सह प्रभारी मानवेंद्र सिंह मौजूद रहे। 

दरअसल, बुधवार को भिंड शहर के मानपुरा स्थित कल्याण पैलेस में भिंड दतिया संसदीय क्षेत्र की आठ विधानसभाओं के 2160 मतदान केंद्रों के पालकों और संयोजकों का सम्मेलन आयोजित किया गया था| इस कार्यक्रम में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय भी मुख्य अतिथि के रूप में मंच पर मौजूद थे| सम्मेलन में क्षेत्रीय सांसद डॉ भागीरथ प्रसाद का खुलकर विरोध दिखाई दिया। वे बोलने के लिए जैसे ही मंच पर खड़े हुए वैसे ही बूथ पालकों और संयोजकों ने शोर शुरू कर दिया और उन्हें सुनने से इनकार कर दिया। इससे पहले जब सम्मेलन में सांसद डॉ. भागीरथ प्रसाद ने भाषण शुरू किया तो उन्हें राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने रोक दिया। विजयवर्गीय ने कार्यकर्ताओं से कहा, आप कुछ पूछना चाहें तो 5-6 प्रश्नों के मैं जवाब दूंगा। आप प्रश्न लिखकर दे दें। मुझे लगेगा इसके जवाब देना चाहिए तो जरूर दूंगा। इसके बाद सांसद ने भाषण शुरू किया तो कार्यकर्ताओं ने हंगामा कर दिया। कार्यकर्ताओं ने कहा बहुत भाषण हो गया। अब कोई नहीं सुनना चाहता आपके भाषण। सांसद बोलते रहे और कार्यकर्ता नारे शोर करते हुए हूटिंग करते रहे| इस हंगामे को देख सांसद को अपना भाषण रोकना पड़ा| इस विरोध के बाद क्षेत्र में चर्चाओं का दौर शुरू हो गया| कुछ कार्यकर्ता की इस बार चेहरा बदलने की मांग है, वहीं बुधवार को हुए हंगामे को लेकर भाजपा से कुछ लोगों का कहना है अपने पसंद के नेता को टिकट दिलाने के लिए एक धड़े विशेष के लोग सांसद प्रसाद का विरोध कर रहे हैं।

 विजयवर्गीय ने इस सम्मेलन में कार्यकर्ताओं से कहा कि हमारी नाराजगी व्यक्ति विशेष से हो सकती हैं। लेकिन देश से नहीं होना चाहिए। यह लोकसभा चुनाव देश की सुरक्षा के लिए लड़ा जा रहा हैं, जिसमें हम सब कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर नरेंद्र मोदी को पुनः देश का प्रधानमंत्री बनाना है। इसके लिए आप सभी को अपने-अपने केंद्रों पर जुटना होगा।