मास्क

भिण्ड, गणेश भारद्वाज। विकराल कोरोना संक्रमण काल (phase) में मास्क (mask) की उपयोगिता को दर्शाते हुए एक नेत्रहीन वधू (blind bride) ने बड़ा ही जरूरी संदेश दिया है। शनिवार की रात दंदरौआ धाम में आयोजित हुई शादी (marriage) के बाद जब दुल्हन आज सुबह अपने ससुराल अजनोधा पहुंची तो घर में प्रवेश करने से पहले पूरे गांव (village) को मास्क बांटकर हर कीमत पर मास्क लगाने और दो गज की दूरी (social distancing) का संदेश दिया। बीते रोज पूर्व सरपंच समाजसेवी राजेन्द्र शास्त्री ने दंदरौआ धाम से एक अंधत्व से अभिशप्त परिवार की बेटी का विवाह स्वयं के खर्चे पर सम्पन्न कराया। विवाह बीती रात को सोशल डिस्टेंस और धाम के महंत रामदास महाराज व कुछ ही चुनिंदा लोगों की मौजूदगी में सम्पन्न हुआ। आज सुबह विदाई के बाद जब दुल्हन अंकिता अपने ससुराल पहुंची तो उसने अपने पीहर से लाये सैकड़ों मास्कों का वितरण स्वयं अपने हाथों से गांव में किया और ग्रामीणों को इस कोरोना संक्रमण काल मे हर कीमत पर मास्क लगाने का संदेश दिया।

यह भी पढे़ं… सैल्यूट: युवा अफसरों की मेहनत करेगी इंदौर में ऑक्सीजन की कमी पूरी

बता दें कि भिण्ड के बबेडी ग्राम पंचायत के मजरा मुकुटपुरा में एक ऐसा परिवार रहता है जिसके सभी 6 सदस्य अंधत्व से अभिशप्त है। परिवार के मुखिया रामशरण सिंह चौहान और उनकी पत्नी सरस्वती देवी को जहाँ आंखों के कुछ दिखाई नहीं देती है तो उनकी चार बेटियाँ चांदनी, अंकिता, पूजा और गुड़िया भी आंखों से इस दुनियाँ की चकाचौंध नहीं देख पाती है। इस परिवार पर कुछ वर्ष पहले जब मीडिया और सामाजिक जनों की नजर पड़ी तो सबने इस आंखों और गरीबी से पीड़ित परिवार को मुख्यधारा में जोड़ने का संकल्प लिया। जिसके अन्यर्गत भिण्ड के तत्कालीन एडीशनल एसपी अमृत मीणा ने इनके कच्चे झोपडी की जगह पक्का भवन बनवाया तो तत्कालीन कलेक्टर इलैया राजा टी ने भी आर्थिक सहयोग किया। नवजीवन सहायतार्थ संगठन ने इस परिवार के राशन की ऐसी जिम्मेदारी उठाई कि गत चार वर्ष से लगातार हर माह पूरे परिवार का राशन संगठन मुहैया करा रहा है।

यह भी पढे़ं… देश में साढ़े 3 लाख के पार पहुंचा कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा, 27 सौ से ज़्यादा मौतें

जब बात बेटियों की शादी की आई तो सबसे बड़ी बेटी की शादी की जिम्मेदारी बिहारी बालमंदिर, भिण्ड के संचालक राजेश शर्मा ने ली और वादे के मुताबिक अपने कॉलेज परिसर से अत्यंत भव्य समारोह के बीच बड़ी बेटी चांदनी का विवाह संपन्न कराया। वहीं दूसरी बेटी अंकिता की शादी की जिम्मेदारी गोरम के पूर्व सरपंच राजेन्द्र शास्त्री ने ली और वादे के मुताबिक सम्पूर्ण विधिविधान के साथ अंचल के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल दंदरौआ धाम से अंकिता का विवाह अजनोधा निवासी वीरेश सिंह धाकरे के साथ संपन्न कराया। विवाह उपरान्त आज जब बिटिया अंकिता अपने ससुराल पहुंची तो घर मे प्रवेश से पहले ग्रामीणों को मास्क बांटकर इस भयानक कोरोना संक्रमण काल में हर कीमत पर मास्क लगाने का संदेश दिया।