सिंधिया को सड़क पर उतरने को कहा था, खुद सड़क पर आ गए कमलनाथ: शिवराज

भिण्ड, गणेश भारद्वाज| ज्योतिरादित्य सिंधिया  ने कमलनाथ से कहा था कि अगर उन्होंने ग्वालियर चम्बल की जनता से किये वायदे पूरे नहीं किए तो वह सड़कों पर उतरेंगे। जिस पर कमलनाथ का जवाब आया उतर जाओ सड़कों पर। लेकिन सिंधिया ने उनको ही सड़क पर लाकर खड़ा कर दिया। यह बात प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj SIngh CHauhan) ने आज चंबल अंचल में उप चुनावी शंखनाद करते हुए मेहगांव में कही।

इससे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को मेहगांव के मंडी प्रांगण में पहुंचकर लगभग 205 करोड़ रुपए की योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया। इस दौरान केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) सहित मंत्री व मेहगांव के पूर्व विधायक ओमप्रकाश सिंह भदौरिया व पूर्व विधायक राकेश शुक्ला, मुकेश सिंह चतुर्वेदी, नरेंद्र सिंह कुशवाह भाजपा जिलाध्यक्ष नाथू सिंह गुर्जर, अशोक भरद्वाज केपी सिंह भदौरिया, रमेश दुवे, धीर सिंह भदौरिया, नगरपंचायत अध्यक्ष ममता सिंह भदौरिया, मंडी अध्यक्ष देवेंद्र नरवरिया कार्यक्रम में मौजूद रहे। कार्यक्रम में हजारों लोगों की भीड़ जुटी कोराना की परवाह किए बिना, बिना सोशल डिस्टेंसिंग एवं बिना मास्क के ही लोग सभा में इकट्ठा हुए। इस दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं शिवराज सिंह चौहान ने जमकर कमलनाथ और कांग्रेस पर हमला बोला।

सिंधिया ने कमलनाथ का बैंड बजा दिया
शिवराज सिंह ने कहा कि कमलनाथ ने जिन किसानों को कर्ज माफी के सर्टिफिकेट बांटे, उनका भी कर्ज माफ नहीं हुआ। अब वह किसान सर्टिफिकेट लेकर मेरे पास आ रहे हैं कि सर्टिफिकेट तो मिल गया है आप कर्ज भी माफ कर दो। कमलनाथ ने युवाओं को रोजगार नहीं दिया जबकि उन्हें बैंड बजाने की ट्रेनिंग देने की बात की। लेकिन सिंधिया ने कमलनाथ का ही बैंड बजा दिया। शिवराज सिंह ने कहा कि हम पुलिस की भर्तियां खोलेंगे जिससे युवाओं को रोजगार मिल सके। उन्होंने कांग्रेस के कद्दावर नेता पूर्व मंत्री द्वारा की जा रही नदी बचाओ सत्याग्रह यात्रा पर चुटकी लेते हुए कहा कि नौ सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली। उन्होंने कहा कि कर्ज माफी के नाम पर कमलनाथ ने किसानों के साथ धोखा किया है। मेरे बेटे बेटियों को भी कमलनाथ ने धोखा दिया। इस दौरान उन्होंने कलेक्टर को बुलाकर कहा कि एक भी गरीब बिना पात्रता पर्ची के बचना नहीं चाहिए। सभी को एक रुपए किलो अनाज मिलेगा।

जिले के मेहगांव और गोहद में कांग्रेस विधायक ओ पीएस भदौरिया एवं रणवीर जाटव के विधायकी से इस्तीफा देने के बाद दोनों सीटों पर उपचुनाव होना है। ऐसे में यहां पर भाजपा की चुनावी सभाएं शुरू हो गई हैं। हालांकि भाजपा द्वारा विकास कार्यों का लोकार्पण करते हुए आज सभा का आयोजन मेहगांव मंडी प्रांगड़ में किया गया। जिसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दो सौ करोड़ से अधिक की योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इस दौरान सबसे पहले मंच से बोलते हुए मंत्री ओ पी एस भदौरिया ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्होंने हमारे नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का अपमान किया है इसका बदला में चुन चुन कर लूंगा। वहीं उन्होंने कमलनाथ पर रंगभेदी टिप्पणी करते हुए कहा कि काला कमलनाथ मिलने तक का समय नहीं देता था जबकि शिवराज सिंह चौहान से दिन में चार बार मिल लेता हूं।

जनता की चिंता है, पद की उन्हें कोई लालसा नहीं : सिंधिया
इस दौरान मंच से बोलते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी कमलनाथ और कांग्रेस पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस से विकास और प्रगति की आशा करके ग्वालियर चंबल क्षेत्र ने वोट दिया था। लेकिन कांग्रेस ने वादाखिलाफी की और शिवराज सिंह के विकास की लकीर से बड़ी लकीर खींचने की बजाए उन्होंने भ्रष्टाचार की लकीर खींची ना कि विकास की। सिंधिया ने कहा कि अगर ग्वालियर चंबल संभाग की जनता से किसी ने वादा खिलाफी की तो झंडा तलवार लेकर सिंधिया परिवार खड़ा हो जाएगा। इस दौरान उन्होंने कहा कि उन्हें जनता की चिंता है पद की उन्हें कोई लालसा नहीं। उन्होंने कमलनाथ पर हमला बोलते हुए कहा कि मैंने बार-बार कमलनाथ से क्षेत्र के विकास के लिए विनती की लेकिन वह तो वल्लभ भवन में कैद होकर बैठे रहे। कोरोना से निपटने के लिए कमलनाथ पर समय नहीं था लेकिन इंदौर में आईफा अवार्ड में जाकर हीरोइनों के साथ मिलने का समय था। सिंधिया ने कहा कि कमलनाथ ने अपने 15 महीने के कार्यकाल में केवल ट्रांसफर उद्योग चलाया एक अफसर को 3 दिन में चार जगह ट्रांसफर किया गया वहीं अवैध उत्खनन पर भी उन्होंने कमलनाथ को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कमलनाथ ने अवैध उत्खनन को इतना बढ़ावा दिया कि सरकार के मंत्री ने खुद माफी मांगी कि हम अवैध उत्खनन को नहीं रोक पाये।

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर बयान दिया कि बिना आम चुनाव के बिना शिवराज सिंह की चौथी पारी शुरू करने में सिंधिया का योगदान है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार में क्षेत्र का विकास अवरुद्ध हो गया था। कमलनाथ ने तो चंबल एक्सप्रेस वे के काम को ठंडे बस्ते में डाल दिया था। जबकि शिवराज सिंह ने नितिन गडकरी के साथ मिलकर उसके लिए फिर से फंड मंजूर करवाया।

कमलनाथ से मिलना मुश्किल था शिवराज से दिन में 4 बार मिलता हूं -ओ पी एस
इससे पूर्व सर्वप्रथम मंच से बोलते हुए मंत्री ओ पी एस भदौरिया ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्होंने हमारे नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का अपमान किया है इसका बदला में चुन चुन कर लूंगा। वहीं उन्होंने कमलनाथ पर रंगभेदी टिप्पणी करते हुए कहा कि काला कमलनाथ मिलने तक का समय नहीं देता था जबकि शिवराज सिंह चौहान से दिन में चार बार मिल लेता हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here