शिक्षा विभाग के क्लर्क को लोकायुक्त ने 5000 रुपये की रिश्वत लेते पकड़ा

मान्यता के लिए वो जिला शिक्षा अधिकारी भिंड के कार्यालय में क्लर्क रामेन्द्र सिंह कुशवाह से मिले थे। क्लर्क रामेन्द्र सिंह ने इसके लिए उससे 12 हजार रुपये की रिश्वत की मांग की। 

भिंड, डेस्क रिपोर्ट। रिश्वतखोर(Bribe) भ्रष्ट अधिकारियों – कर्मचारियों के खिलाफ प्रदेश सरकार की जांच एजेंसियां लगातार एक्शन ले रही हैं बावजूद इसके सरकारी कर्मचारी अधिकारी रिश्वत लेने से खौफ नहीं खा रहे। आज गुरुवार को लोकायुक्त पुलिस ग्वालियर (gwalior lokayukta police action) की टीम ने कार्रवाई करते हुए शिक्षा विभाग के एक क्लर्क को 5 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है।

शिक्षा विभाग के क्लर्क को लोकायुक्त ने 5000 रुपये की रिश्वत लेते पकड़ा

लोकायुक्त ग्वालियर टीम के अधिकारियों के मुताबिक ग्वालियर कार्यालय में 18 जुलाई को भिंड जिले के निवासी यदुनाथ सिंह तोमर नामक व्यक्ति ने शिकायती आवेदन दिया था। जिसमें उसने बताया था कि वो अपने गांव में एक मॉडल स्कूल खोलना चाहता है जिसकी मान्यता के लिए वो जिला शिक्षा अधिकारी भिंड के कार्यालय में क्लर्क रामेन्द्र सिंह कुशवाह से मिले थे।

ये भी पढ़ें – Bhind : आखिर कब होगा नकल मुक्त भिंड! परीक्षा में चोरी करते छात्रों का वीडियो वायरल

क्लर्क रामेन्द्र सिंह ने इसके लिए उससे 12 हजार रुपये की रिश्वत की मांग की।  शिकायत के बाद लोकायुक्त टीम (gwalior lokayukta police) ने यदुनाथ सिंह तोमर को समझाइश देकर एक वॉइस रिकॉर्डर दिया। जिसमें यदुनाथ ने रामेन्द्र से 5 हजार रुपये की पहली किश्त देने का बातचीत रिकॉर्ड कर ली और लोकायुक्त को सौंप दी।

ये भी पढ़ें – राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपत्नी कहने पर भड़की BJP, सीएम शिवराज ने कही बड़ी बात, संसद में भी हंगामा

आज तय समय पर यदुनाथ सिंह तोमर ने क्लर्क रामेन्द्र सिंह को रिश्वत की पहली किश्त 5 हजार रुपये उसे दिए, पहले से तैयार लोकायुक्त पुलिस ग्वालियर की टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया। जब लोकायुक्त ने रिश्वत लेने वाले क्लर्क रामेन्द्र सिंह के हाथ धुलवाए तो वे गुलाबी हो गए। लोकायुक्त ने क्लर्क रामेन्द्र सिंह कुशवाह के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

ये भी पढ़ें – MP Weather : प्रदेश के 46 जिलों में भारी बारिश और बिजली गिरने का येलो अलर्ट, जानें अपने जिले का हाल