पुलिस जवान का हाई वोल्टेज ड्रामा, डीएसपी के सामने फाड़ी वर्दी, किया हंगामा

Bhind News : भिंड एसपी ऑफिस परिसर में आज एक पुलिस जवान ने ही हंगामा कर दिया, अपनी पारिवारिक समस्या को लेकर डीएसपी के पास पहुंचा पुलिस जवान इतना उत्तेजित हो गया कि वो अपना आपा खो बैठा और उसने अधिकारी के सामने ही अपनी वर्दी फाड़ दी, करीब दो ढाई घंटे तक पुलिस जवान का हाई वोल्टेज ड्रामा चलता रहा और अधिकारी उसे समझाते रहे, बहुत मुश्किल से शांत हुआ। एसपी ऑफिस में मौजूद किसी व्यक्ति ने इस घटना का वीडियो बना लिया जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

पुलिस जवान का हाई वोल्टेज ड्रामा, डीएसपी के सामने फाड़ी वर्दी, किया हंगामा

जानकारी के अनुसार पुलिस जवान सुल्तान सिंह के परिजनों का पैसों के लेन-देन का विवाद गांव के ही कुछ लोगों से चल रहा था इसी दौरान पुलिस जवान का उधारी का पैसा मांगने आए लोगों से विवाद हो गया, विवाद के दौरान पुलिस जवान ने उधारी का पैसा लेने आए व्यक्ति का मोबाइल छीनते हुए धमकाया, इस बात की शिकायत डीएसपी हेडक्वार्टर अरविंद शाह के पास आई थी।

पुलिस जवान का हाई वोल्टेज ड्रामा, डीएसपी के सामने फाड़ी वर्दी, किया हंगामा

डीएसपी के सामने फाड़ दी पनी वर्दी 

डीएसपी हेडक्वार्टर ने मामले की सुनवाई करते हुए पुलिस जवान सुल्तान सिंह और शिकायत कर्ता को ऑफिस बुलाया और पुलिस जवान को डांटते हुए डीएसपी अरविंद शाह ने पुलिस आरक्षक से पूछा कि तुमने मोबाइल कैसे छीना? अपने ही अधिकारी की ये बात पुलिस जवान को खटक गई और वो आक्रोशित हो गया।

अफसरों के समझाने पर भी शांत नहीं हुआ आरक्षक 

आरक्षक इतना आक्रोशित हो गया कि उसने डीएसपी के चेंबर में ही अपनी वर्दी फाड़ दी और चिल्लाते हुए बाहर निकल कर ड्रामा करने लगा, पुलिस अधीक्षक कार्यालय कैंपस में हंगामा होते देख एडिशनल एसपी कमलेश कुमार खरपुसे भी मौके पर आ गए, उन्होंने भी आरक्षक को समझाने की कोशिश की लेकिन वो शांत नहीं हो रहा था, जवान का हाई वोल्टेज ड्रामा करीब दो ढाई घंटे चलता रहा।

ये है विवाद की वजह 

दरअसल, शिकायतकर्ता संदीप सिंह राठौर और आरक्षक सुल्तान सिंह का परिवार उत्तर प्रदेश के जालौन जिले के रहने वाले हैं, बाते गया है कि आरक्षक सुल्तान सिंह के परिवार ने संदीप से पैसे उधार लिये थे जो समय सीमा निकलने के बाद भी चुका नहीं पा रहा था जिसको मांगने के लिए संदीप सिंह आरक्षक सुल्तान सिंह के पास पुलिस लाइन पहुंचा जहां पर पैसे मांगने की बात सुनते ही आरक्षक सुल्तान सिंह विवाद किया और संदीप राठौर का मोबाइल छीन कर धमकी देने लगा, जिसकी शिकायत लेकर संदीप राठौड़ डीएसपी हेडक्वार्टर के पास पहुंचे थे जिस पर दोनों पक्षों को डीएसपी अरविंद शाह अपने ऑफिस बुलाकर मामले को समझ ही रहे थे मोबाइल छीनने की बात सुनकर आरक्षक भड़क गया और वर्दी को फाड् कर हंगामा करने लगा, आरक्षक का कहना था कि उसका परिवार संदीप सिंह का ब्याज चुकाते-चुकाते कंगाल हो चुका है और उसकी जमीन तक बिक गई है और देने के लिए अब उसके पास पैसा नहीं है।

आरक्षक बोला जब विभाग ही नहीं सुन रहा तो वर्दी का क्या फायदा 

हंगामे के दौरान आरक्षक अधिकारियों के सामने ही जोर जोर चिल्ला रहा था, वो कह रहा था कि अधिअकरी अपने ही विभाग के कर्मचारी की बात नहीं सुनते तो ऐसी वर्दी का क्या फायदा?

डीएसपी ने कार्यवाही के लिए प्रतिवेदन बनाकर एसपी को भेजा 

डीएसपी ने कहा कि मैंने दोनों के विवाद को सुनने के लिए अपने चेंबर में बुलाया था लेकिन आरक्षक सुल्तान सिंह उत्तेजित हो गया उसने वर्दी फाड़ दी और हंगामा करते हुए बाहर निकल गया, मैंने घटना की जानकारी एसपी साहब को दे दी है, उनके निर्देश पर एक प्रतिवेदन बनाकर भेज दिया है अब इस मामले में कार्यवाही एसपी साहब ही करेंगे।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News