अनोखी शादी: एक ही मंडप के नीचे दूल्हे ने दो दुल्हनों के साथ लिए सात फेरे

भिंड| मध्यप्रदेश के भिंड जिले के मेहगांव जनपद में एक अनोखी शादी हुई| यहां एक ही मंडप के नीचे दूल्हे ने दो दुल्हनों के साथ सात फेरे लिए और जीवन भर साथ निभाने का वादा किया| खास बात यह है कि दोनों दुल्हन आपस में बहने हैं और दोनों की रजामंदी के बाद यह शादी हुई| इस अनोखी शादी का गवाह पूरा गांव बना| 

दरअसल यह पूरा मामला मेहगांव जनपद के ग्राम गुदावली का है| यहां एक सरपंच पति ने एक ही मंडप के नीचे अपनी पत्नी और साली के साथ सात फेरे लिए| हालांकि यह शादी 12 दिन पहले 26 नवंबर को हुई लेकिन जैसे जैसे लोगों को इस शादी के बारे में पता चल रहा है इसकी खूब चर्चा हो रही है| इस  शादी के पीछे के पीछे एक कहानी है| ग्रामीणों का कहना है कि दिलीप उर्फ दीपू परिहार की शादी 9 साल पहले सिकंदरपुर निवासी विनीता के साथ हुई थी| विनीता इसी ग्राम पंचायत में सरपंच है| शादी के बाद दोनों के 3 बच्चे भी हैं, लेकिन पिछले कुछ समय से दीपू की पहली पत्नी विनीता बीमार रहती है| ऐसे में दीपू को उसके बच्चों की देखरेख के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है| इसलिए दीपू ने अपनी पत्नी विनीता की रजामंदी से उसकी ही चाचा की बेटी रचना से दूसरी शादी करने का निर्णय लिया| पत्नी की रजामंदी मिलने के बाद दीपू ने बड़े ही धूमधाम के साथ पहली पत्नी विनीता और उसकी छोटी बहन रचना के साथ एक ही मंडप के नीचे शादी की| शादी के बाद तीनो अपने नए जीवन की शुरुआत के लिए बहुत खुश है| हालांकि हिंदू विवाह अधिनियम के तहत यह अपराध है और इसमें सात साल की सजा हो सकती है। लेकिन फिलहाल ये अनोखी शादी चर्चा मे है|