शिकायत पर अधिकारी का जवाब, ‘उसकी छाती पर हैंडपंप गाड़ दो’, सस्पेंड

भिंड।गणेश भारद्वाजएमपी ब्रेकिंग न्यूज़ की खबर का बड़ा असर हुआ है| सीएम हेल्पलाइन पर हेड पंप खराब होने की शिकायत पर पीएचई के कार्यपालन यंत्री पी आर गोयल को बेतुका जवाब देना महंगा पड़ गया| विभाग के अवर सचिव एसके सेन्द्रे ने कलेक्टर वीरेंद्र रावत के प्रतिवेदन पर उन्हें निलंबित कर दिया है|

दरअसल, कार्यपालन यंत्री ने पोर्टल पर अपनी टिप्पणी में लिखा था कि शिकायतकर्ता पागल है उसको मिर्गी के झटके आते हैं अंट संट बोलता है इसके पूरे परिवार को मिर्गी के झटके आते हैं, हैंडपंप खराब नहीं है उसका दिमाग खराब है । कार्यपालन यंत्री यहीं नहीं रुके आगे उन्होंने लिखा कि मेरे हेड पंप मेकेनिक के शिकायतकर्ता पागल ने कपड़े फाड़ दिए थे अब समय आ गया है चीनी युद्ध किया जाए जो गोरिल्ला नीति है। हेडपंप को उखाड़ कर शिकायतकर्ता की छाती पर गाड़ दिया जाए। एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ ने इस सम्बन्ध में प्रमुखता से खबर चलाई थी|

मामले ने तूल पकड़ा तो बीते रोज आनन-फानन में उक्त हेड पंप ठीक कराया गया है। पीएचई के वरिष्ठ अधिकारियों ने कार्यपालन यंत्री आरपी गोयल को नोटिस जारी कर जबाब मांगा भी माँगा है। लहार क्षेत्र के रहावली निवासी राहुल दीक्षित ने सीएम हेल्पलाइन (181) पर शिकायत की थी।

शिकायत पर अधिकारी का जवाब, 'उसकी छाती पर हैंडपंप गाड़ दो', सस्पेंड