कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने की तैयारी तेज! भोपाल कलेक्टर ने ली समीक्षा बैठक

भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने सरकारी अस्पताल के अधीक्षकों और निजी अस्पताल के संचालकों के साथ तैयारियों को लेकर समीक्षा की जिसमें बच्चों के इलाज के लिए विशेष प्रावधान करने के निर्देश दिए गए।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal) में कोरोना की तीसरी (Third wave of coronavirus) लहर को देखते हुए भोपाल कलेक्टर अविनाश लावानिया (Avinash Lavania) ने तैयारियों की समीक्षा बैठक ली। इस बैठक में ऑक्सीजन की कमी ना हो इस पर खास ध्यान दिया जा रहा है। भोपाल के 15 अस्पतालों में हवा से 20 मीट्रिक टन ऑक्सीजन (Oxygen) तैयार की जाएगी। इसमें करीब 700 मरीजों को इसका लाभ मिल सकेगा। 1 सितंबर से 15 अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट शुरू हो जाएंगे। बैठक में कलेक्टर अविनाश लवानिया ने जिले के सभी अस्पतालों को निर्देश दिए और किसी प्रकार की अनुमति में कोई समस्या आने पर तत्काल संपर्क करने की बात कही। इन निर्देशों के जरिये इलाज संबंधित परेशानियों और कठिनाईयों को दूर किया जा सकेगा।

ये भी देखें- MP में पटवारियों की हड़ताल जारी, ग्रेड पे और डेडलाइन पर अटका मामला

बता दें, पूरे देश में कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिये तमाम तैयारियां की जा रही हैं। विशेषज्ञों के अनुसार इसमें बच्चों को ज्यादा खतरा होना बताया जा रहा है। जिसके चलते भोपाल प्रशासन द्वारा बच्चों के इलाज के लिए 200 आईसीयू ऑक्सीजन बेड तैयार किए जा रहे हैं। इस दौरान भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया (Bhopal collector Avinash Lavania) ने सरकारी अस्पताल के अधीक्षकों और निजी अस्पताल के संचालकों के साथ तैयारियों को लेकर समीक्षा की जिसमें बच्चों के इलाज के लिए विशेष प्रावधान करने के निर्देश दिए गए। कलेक्टर ने सभी अस्पतालो को अपने स्तर पर विशेष प्रशिक्षण की व्यवस्था करने की बात कही जिससे कि सभी स्टाफ पूरी तरह से प्रशिक्षित हो सकें। उनहोंने बताया कि विशेषकर छोटे बच्चों के इलाज के लिये विशेष व्यवस्थाएं होना आवश्यक है।