पहले फोन पर पिता को मिला SMS, ‘गुस्ताख ए… की एक सजा, सर तन से जुदा’, फिर मिली बेटे की लाश, जानें पूरा मामला

लाश मिलने से पहले ओरिएंटल कालेज के बीटेक के छात्र निशांक के पिता के पास एक संदेश व्हाट्सएप पर आया जिसमें लिखा था कि राठौर साहब, बहुत बहादुर था आपका बेटा, गुस्ताख ए... की एक सजा, सर तन से जुदा।

bhopal

भोपाल (Bhopal) से हाल ही में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसको सुनने के बाद सभी लोगों के पैरों तले जमीन खिसक गई। बताया जा रहा है कि भोपाल के नर्मदापुरम रेलखंड पर मिडघाट और बरखेड़ा के बीच बनी रेल पटरी पर रविवार के दिन देर रात को एक छात्र की लाश मिली।

दरअसल, लाश मिलने से पहले ओरिएंटल कालेज के बीटेक के छात्र निशांक के पिता के पास एक संदेश व्हाट्सएप पर आया जिसमें लिखा था कि राठौर साहब, बहुत बहादुर था आपका बेटा, गुस्ताख ए… की एक सजा, सर तन से जुदा।

इस संदेश को पढ़ने के बाद पिता घबरा गए तो तुरंत थाने पहुंचे। जिसके बाद इस मामले को लेकर पुलिस जांच में जुट गई है। निशांक का शव पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं पुलिस की टीम इस मामले में जांच में जुट चुकी हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में निशांक की मौत की वजह ट्रैन सेकटान बताया जा रहा है।

ये है पूरा मामला –

जानकारी के मुताबिक, ओरिएंटल कालेज के बीटेक के छात्र निशांक का शव मिडघाट और बरखेड़ा के बीच पटरी पर मिला। इसके साथ ही पुलिस ने सड़क किनारे खड़ी उसकी स्कूटी और मोबाइल भी बरामद किया। निशांक की लाश मिलने के 2 घंटे पहले ही उसके पिता और एक दोस्त के पास आपत्तिजनक मैसेज आया।

वहीं दोस्तों द्वारा बताया गया कि उसके सोशल मीडिया पर भी कुछ आपत्तिजनक पोस्ट की गई थी लेकिन कुछ देर बाद वह हटा दी गई उसके बाद एक और पोस्ट की गई जिसमें लिखा था – गुस्ताख-ए-नबी की एक सजा, सर तन से जुदा।

Must Read : MP: किसानों के लिए बड़ी खबर, अब 31 जिलों में होगी मूंग की खरीदी, मंडी के रिकार्ड से होगा मिलान, ये रहेगा रेट

औबेदुल्लागंज एसडीओपी मलकीत सिंह के अनुसार, निशांक की उम्र 20 साल थी। वह सिवनी का रहने वाला था। उसके पिता का नाम उमाशंकर राठौर है जो कि सहकारिता विभाग में आडिटर हैं। निशांक अपने घर का एकलौता बेटा है।

उसकी दो बहने है। ऐसे में उनके पास ये अपने बेटे को लेकर आपत्तिजनक मैसेज आने के बाद वह घबरा गए और तुरंत पुलिस के पास पहुंचे। उन्होंने पुलिस को बताया कि निशांक का घर का नाम बिट्टू था। उसके पिता ने पुलिस को गुमशुदा का मामला दर्ज करवाया।

Bhopal

इतना ही नहीं निशांक के दोस्तों ने बताया कि निशांक सोशल मीडिया पर काफी ज्यादा सक्रीय था। उसकी सोशल मीडिया पर लगभग 3 हजार फॉलोवर्स है। वह फाइनेंस सेक्टर से था। लेकिन अचानक सोशल मीडिया पर निशांक की आईडी पर आपत्तिजनक पोस्ट देख सभी परेशान हो गए।

Must Read : पेंशनर्स-कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, EPS-95 पीएफ पेंशन, न्यूनतम पेंशन सहित फैमिली पेंशन का मिलेगा लाभ, जानें सरकार का बड़ा बयान

पुलिस ने बताया कि वह इस मामले को लेकर लगातार जांच में जुट चुकी है। पुलिस ने ये भी जानकारी निकाली है कि निशांक ने क्रिप्टोकरंसी में निवेश किया था। इतना ही नहीं उसने कई लोगों से पैसे उधर ले रखें थे। ऐसे लोग उस पर पैसे वापस देने का दबाव बना रहे थे।

पिता ने बताया –

मेरे बेटे की आत्महत्या की गई है। वह खुदखुशी नहीं कर सकता है। क्योंकि उससे जब बात हुई थी तो वह बिलकुल परेशान नहीं लग रहा था। इतना ही नहीं मेरी बेटी भी भोपाल परीक्षा देने गई थी। लेकिन वह उससे नहीं मिला। जब मैने अपने बेटे को बहन से मिलने का बोला तो वह नहीं मिला। उसके बाद उसे फ़ोन लगाया तो वह उससे भी नहीं मिला।

उसके बाद फ़ोन पर एक आपत्तिजनक मैसेज आया जिसमें लिखा था गुस्ताख-ए-नबी की एक सजा, सर तन से जुदा। उसके कुछ देर बाद ही बेटे के शव मिलने की जानकारी मिली। जानकारी के मुताबिक, सोशल मीडिया पर जो पोस्ट शेयर किया गया था उसका स्क्रीनशॉट तेजी से वायरल हो रहा है। इस पोस्ट में कई आपत्तिजनक बातें लिखी हुई थी।