प्रोफेसरों का विरोध करने वाले 23 छात्र माखनलाल यूनिवर्सिटी से निष्कासित

भोपाल।  माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय (एमसीयू) की एडजंक्ट फैकल्टी दिलीप मंडल व मुकेश कुमार द्वारा की जाने वाली जातिवादी टिप्पणियों के खिलाफ हंगामा करने वाले 23 छात्रों को मंगलवार को निष्कासित कर दिया है। निष्कासन अवधि में यह छात्र न तो कक्षा में उपस्थित हो सकेंगे और न ही परीक्षा में शामिल हो सकेंगे।

दरअसल, पत्रकारिता विश्विद्यालय पिछले कुछ दिनों से सुर्ख़ियों में है| यहां अनुबंधक प्रोफेसर दिलीप मंडल और मुकेश कुमार के विवादित ट्वीट को लेकर छात्रों ने विरोध किया| वहीं नाराज छात्रों ने पिछले दिनों विश्वविद्यालय परिसर में धरना प्रदर्शन किया था। इस दौरान पुलिस भी यूनिवर्सिटी पहुंची थी| प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज भी करा दिया था।   विश्वविद्यालय ने 23 विद्यार्थियों के मामले अनुशासन समिति को सौंपे थे। अनुशासन समिति ने इन सभी विद्यार्थियों को निष्कासित करने की अनुशंसा की। मंगलवार को विश्वविद्यालय के प्रभारी कुलसचिव दीपेंद्र सिंह बघेल ने 23 छात्रों को निष्कासित करने का आदेश जारी कर दिया|  

ये किए गए निष्कासित

पत्रकारिता विभाग के छात्र सौरभ कुमार, प्रखरादित्य द्विवेदी राघवेंद्र सिंह, विवेक उपाध्याय, शुभम द्विवेदी, अंकित कुमार चौबे, आकाश शुक्ला, रजनीश तिवारी, अनुप शर्मा, वीपिन तिवारी, विधि सिंह, मीडिया प्रबंधन विभाग के आशुतोष भार्गव, राहुल कुमार, नीतिशा सिंह, इलेक्ट्रानिक मीडिया विभाग के अविलाश ठाकुर, अर्पित शर्मा, रवि भूषण सिंह, अंकित शर्मा, अर्पित दुबे, सुरेंद्र सौधरी, प्रतीक वाजपेयी, रवि शर्मा, विज्ञापन एवं जनसंपर्क विभाग की मोनिका दुबे शामिल हैं।