राजधानी के लिए भारी रहे 24 घंटे, तीन ने लगाई फांसी, दो की सड़क हादसे में मौत

2228
-24-hours-heavy-for-capital

भोपाल। राजधानी में बीते 24 घंटो के भीतर पांच लोगों की मौत हो गई। तीन ने फांसी लगाकर जान दी है। जबकि सड़क हादसे में घायल दो की उपचार के दौरान मौत हो गई। सभी मामलों में पुलिस ने मर्ग कायम कर लिए हैं। पांचो मामलों की पुलिस पड़ताल कर रही है। 

– महिला कार चालक ने युवक को ठोका, उपचार के दौरान मौत

महिला कार चालक ने सब्जी ठेले वाले को बीते दिनों ठोक दिया था। घायल को एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां बीती रात उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। गाड़ी नंबर के आधार पर महिला कार चालक के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। फिलहाल उसकी गिरफ्तारी नहीं की जा सकी है। घटना के बाद से ही ठेले वाले को होश नहीं आया था। गोविंदपुरा पुलिस के अनुसार महेंद्र कुमार पिता बिर्जुराम (54)निवासी अन्ना नगर सब्जी का ठेला लगाता था। वह बीती एक फरवरी को चर्च रोड से सिविल लाइन की ओर सब्जी से भरा ठेला लेकर जा रहा था। तभी निजी गैस एजेंसी के सामने उसे स्फिट कार की महिला चालक उसे जोरदार टक्कर मार दी। जिससे उसके सिर में गंभीर चोटे आई थीं। तब से ही उसका इलाज एम्स अस्पताल में चल रहा था। 

– एक्सीडेंट में घायल युवक की मौत

छोला मंदिर थाना क्षेत्र में बीती 13 फरवरी की रात को दो बाइकों की आमने सामने से भिडं़त हो गई थी। इस हादसे में घायल अशोक कुशवाह पिता बधरी प्रसाद कुशवाहा (30) निवासी बीमा कैंपस सोनागीरी गंभीर रूप से जख्मी हो गया था। इलाज के लिए उसे एलबीएस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां बीती रात उसकी मौत हो गई। वहीं हादसे में घायल उसके एक अन्य साथी की हालत भी नाजुक बनी हुई है। घटना की रात अन्य बाइक पर सवार युवक की हादसे के बाद मौके पर ही मौत हो चुकी है। 

– बीमारी से तंग वृद्ध फांसी पर झूला

बागसेवनिया थाना प्रभारी उमराव सिंह के अनुसार 80 साल के अमनदास मकान नंबर 289/2सी साकेत नगर में रहते थे। अमनदास भेल से रिटायर्ड कर्मचारी थे। उम्रदराज होने के कारण अक्सर वह बीमार रहते थे। परिजनों का कहना है कि रविवार शाम अमनदास ने अपने कमरे में फ ांसी लगा ली थी। नजर पड़ते ही उन्हें कस्तूरबाद अस्पताल ले जाया गया, वहां डॉक्टरों ने प्राथमिक जांच में अमनदास को मृत घोषित करते हुए पुलिस को सूचना दी थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने अमनदास का शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। थाना प्रभारी ने बताया कि वृद्ध ने सुसाइड नोट नहीं छोड़ा है। परिजनों के डिटेल बयान अभी दर्ज नहीं किए जा सके हैं।  

– प्लंबर ने लगाई फांसी

अयोध्या नगर पुलिस ने बताया कि दुर्गेश सिलावट पिता नारायण सिंह (30) दुर्गा चौक नरेला संकरी में रहता था। दुर्गेश प्लंबर का काम करता था। रविवार को दुर्गेश के ताऊ के घर नरेला संकरी में पूजा थी। परिवार के सभी लोग दोपहर एक बजे पूजा में चले गए। वहां से शाम को सभी लोग लौटे तो उन्हें दुर्गेश नहीं दिखा। उसकी तलाश करने पर पता चला कि वह अंदर के कमरे में है और कमरे की कुंडी अंदर से लगी है। उन्होंने किसी तरह से दरवाजा खोला तो दुर्गेश की लाश फं दे पर लटकी मिली थी। मृतक के भाई गंगाराम सिलावट की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर शव पीएम के लिए भेज दिया है। आज पुलिस परिजनों के बयान दर्ज करेगी। जिसके बाद में खुदकुशी के कारणों का खुलासा होने की उम्मीद है।

गुनगा में भी फांसी पर झूला युवक

गुनगा पुलिस ने बताया कि ब्रजेश अहिरवार पिता घीसीलाल अहिरवार (27) गांव हर्राखेड़ा गुनगा में रहता था। ब्रजेश मजदूरी करता था, जबकि उसके माता पिता शनिवार से गांव गए हुए है। ब्रजेश घर पर अकेला था। उसकी चचेरी बहन ने पुलिस को बताया कि रविवार शाम तक ब्रजेश के घर का दरवाजा नहीं खुला तो वह भाई से खाने का पूछने गई थी। इस दौरान पता चला कि ब्रजेश ने फ ांसी लगा ली है। ब्रजेश के चचेरे भाई अखिलेश ने पुलिस को घटना की सूचना दी थी। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here