Bhopal Corona : राजधानी मे फिर 315 कोरोना पॉजिटिव, 7 स्थानों पर बने कंटेन्मेंट जोन

आज भोपाल के अस्पतालों से 252 मरीज डिस्चार्ज हो कर घर लौटे है। इससे शहर में उन तमाम अस्पतालों में बैड भरने लगे हैं जहां कोविड-19 का इलाज चल रहा है। हमीदिया, चिरायु और एम्स में अब पहले के मुकाबले खाली पलंग की संख्या कम होने लगी है। वहीं नए मरीज मिलने से शहर में एक्टिव केस भी बढ़ रहे हैं।

महिला बाल विकास विभाग

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल (Bhopal) में बीते 1 हफ्ते से निरंतर कोरोना (Corona) के प्रति दिन मरीजों की संख्या 300 से ज्यादा आ रही है। शुक्रवार (Friday) को भोपाल में 315 नए केस दर्ज किए गए। जबकि इसके विपरीत अस्पतालों (Hospitals) से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों की संख्या 200 के आसपास सीमित हो रही है।

आज भोपाल के अस्पतालों से 252 मरीज डिस्चार्ज हो कर घर लौटे है। इससे शहर में उन तमाम अस्पतालों में बैड भरने लगे हैं जहां कोविड-19 का इलाज चल रहा है। हमीदिया, चिरायु और एम्स में अब पहले के मुकाबले खाली पलंग की संख्या कम होने लगी है। वहीं नए मरीज मिलने से शहर में एक्टिव केस भी बढ़ रहे हैं।

नवंबर (November) के पहले शहर में जहां एक्टिव केस की संख्या 1000 से कम थी वहीं अब यह आंकड़ा ढाई हजार पार कर गया है। भोपाल में अब एक्टिव मरीजों की संख्या 2656 हो गई है। गुरुवार को भोपाल में कोरोना के 315 नए केस मिलने से कुल संक्रमितों की संख्या 30 हज़ार पार कर गए हैं। भोपाल में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 30977 हो गया है। जबकि 2 व्यक्तियों की मौत से मरने वालों का आंकड़ा 513 हो गया है

फिर बनाए जा रहे कंटेनमेंट एरिया

शहर में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर आने के बाद फिर कंटेनमेंट एरिया बनाए जाने लगे हैं। कोलार, एमपी नगर, गोविंदपुरा सर्कल में अलग-अलग स्थानों पर पांच कंटेनमेंट बनाए गए हैं। स्थिति यह है कि शाहपुरा सी सेक्टर में 7 घरों में 14 पॉजिटिव मिले हैं। अवधपुरी के क्रिस्टल कैंपस में 14 दिन में 11 मरीज मिलने पर सील कर दिया गया है। अंसल प्रधान में दो घरों से कोरोना के मरीज मिलने के बाद कंटेनमेंट बनाया गया है। पांचों कंटेनमेंट एरिया में आवाजाही रोक दी गई है। नगर निगम यहां जरूरत का सामान मुहैया कराएगा। कर्मचारियों के मोबाइल नंबर पोस्टर पर चस्पा कर दिए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग की एक टीम सैम्पलिंग करने के साथ होम आइसोलेट (Home Isolate) मरीज की मॉनिटरिंग करेगी। यह व्यवस्था 14 दिन के लिए रहेगी।

अब यह किया जा रहा
जिस क्षेत्र में 80 से 100 मरीज हो गए हैं तो उस सर्कल का हॉटस्पॉट (Hotspot) या बफर जोन माना जाएगा। होम आइसोलेट व्यक्ति के घर से या बाहर मिलने पर 2000 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा ।वही किसी घर में कोरोना पॉजिटिव आने के बाद दूसरे या अन्य घरों में अगर उससे संक्रमण पहुंचता है तो उन सभी घरों को कंटेनमेंट बनाया जाएगा।

आज से शुरू होगा कोरोना वैक्सीन का ट्रायल

हैदराबाद (Hydrabad) की निजी कंपनी (Private Company) द्वारा शहर में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) के लिए ट्रायल (Trial) का प्रोग्राम तय किया गया है। बीते 3 दिनों से इसके लिए वॉलिंटियर्स (Volunteers) का रजिस्ट्रेशन (Registration) किया जा रहा है। लेकिन इस प्रक्रिया में अभी तकनीकी पेंच फंसा हुआ है।सूत्रों के अनुसार राज्य सरकार ने अभी किसी तरह की मंजूरी कंपनी को नहीं दी है। वही गांधी मेडिकल कॉलेज के प्रस्ताव को कंपनी ने पेंडिंग में डाला हुआ है। इसलिए कंपनी की ओर से अभी तक कोई अधिकारिक जानकारी मीडिया को उपलब्ध नहीं कराई गई है।अगर सब कुछ ठीक रहा तो शुक्रवार से वॉलिंटियर्स को डोज दिया जाएगा। इसके लिए हजार वॉलिंटियर्स चुने गए हैं। इससे पहले सभी प्रकार की सहमति ले ली गई है।