Lalji Tandon के निधन पर MP में 5 दिन का राजकीय शोक, कैबिनेट स्थगित, भावुक हुए शिवराज

भोपाल।
मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के राज्यपाल लालजी टंडन  (Governor Lalji Tondon) के निधन पर पांच दिन राजकीय शोक घोषित किया गया है। सभी शासकीय कार्यालय आज बंद रहेंगे ।वही कैबिनेट बैठक स्थगित कर दी गई है।अब बुधवार को शिवराज कैबिनेट की बैठक होगी।आज मंगलवार को कैबिनेट बैठक में लालजी टंडन को सभी मंत्रियों ने श्रद्धांजलि अर्पित की और फिर बैठक कल तक के लिए स्थगित कर दी। आज मुख्यमंत्री शिवराज खुद राज्यपाल को श्रद्धांजलि देने लखनऊ जाएंगे।वही राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने 21 से 23 जुलाई तक ग्वालियर संभाग के प्रवास कार्यक्रम स्थगित कर दिये है।

इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भावुक होकर कहा कि मध्यप्रदेश के राज्यपाल रहते हुए टंडनजी ने हमें सदैव सन्मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित किया।राष्ट्र के प्रति उनके प्रेम और प्रगति हेतु योगदान को चिरकाल तक याद रखा जाएगा।आत्मा अजर-अमर है। वे आज हमारे बीच नहीं हैं परंतु अपने सुविचारों द्वारा वे हमारी स्मृतियों में सदैव जीवित रहेंगे।मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि वे दिवंगत आत्मा को शांति दें और शोकाकुल परिजनों को इस वज्रपात को सहने की शक्ति प्रदान करें।

आगे शिवराज ने कहा कि मध्यप्रदेश के राज्यपाल श्रद्धेय श्री लालजी टंडन के चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। टंडन जी का मार्गदर्शन हम सभी बीजेपी कार्यकर्ताओं को लंबे समय तक मिला। उन्होंने जनता और राष्ट्र की सेवा का एक अद्भुत उदाहरण पेश करते हुए अपनी नीतियों से बीजेपी को भी सशक्त किया।मेरी संवेदनाएँ आपके परिवार के साथ हैं ईश्वर श्रद्धेय बाबूजी की आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें, यही प्रार्थना है।

आगे शिवराज ने कहा है कि श्रद्धेय टंडन जी का जाना मेरी व्यक्तिगत क्षति है। उनसे मुझे सदैव पितृतुल्य स्नेह मिला। जब भी कभी मुश्किल आती थी, मैं उनका मार्गदर्शन लेता था।उनकी कमी को अब पूरा नहीं किया जा सकता। श्रद्धेय टंडन जी कुशल संगठक, राष्ट्रवादी विचारक और सफल प्रशासक थे।स्व. अटल जी के निकट सहयोगी रहते हुए उन्होंने लखनऊ और उत्तरप्रदेश के विकास में अतुलनीय योगदान दिया।उनके द्वारा किये गए विकासकार्यों को वर्षों तक याद किया जाएगा।

बता दे कि मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का मंगलवार सुबह लखनऊ के मेदांता हॉस्पिटल (Medanta Hospital) में निधन हो गया हैं। लालजी टंडन का मेदांता अस्पताल में करीब डेढ़ महीने से इलाज चल रहा था। लालजी टंडन के किडनी और लिवर में दिक्कत के बाद उन्हें एडमिट कराया गया था। नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इत्यादि सभी मंत्री और बड़े नेताओं ने राज्यपाल लालजी टंडन की मृत्यु पर दुख जताया है।