छावनी में तबदील राजधानी, 6 हजार पुलिस अधिकारी कर्मचारी सड़कों पर

-6-thousand-police-officers-on-the-streets-in-capital-bhopal

भोपाल। राजधानी में कल होने वाले मतदान को लेकर पुलिस ने सुरक्षा के चौकस इंतजाम कर लिए हैं। शहर को छावनी में तबदील कर दिया गया है। चुनाव में सुरक्षा व्यवस्था को बनाए रखने के लिए भोपाल में 6 हजार पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों की तैनाती की गई है। अतिसंवेदनशील इलाकों में स्पेशल फोर्सेस की तैनाती की गई है। 

डीआईजी धमेज़्ंद्र चौधरी ने बताया कि विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हैं। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्रों में 3 फ्लाइंग स्क्वॉड टीम (एफ एसटी) एवं स्टैटिक सर्विलांस टीम (एसएसटी) पूर्व से 24 घंटे कार्यरत है। इन टीमों में कार्यपालन दंडाधिकारी के अतिरिक्त पुलिस अधिकारी व बल तैनात है। किसी भी सूचना पर उनके द्वारा कार्रवाई की जा रही है। जिला पुलिस बल, केंद्रीय बल एवं एसएएफ सहित 6 हजार अधिकारी, कर्मचारियों को सुरक्षा व्यवस्था के लिए तैनात किया गया है। आदर्श आचार संहिता के तहत मतदान समाप्ति से 48 घंटे पूर्व अर्थात आज दिनांक 26 नवंबर को शाम 5 बजे से जिले में ठहरे हुए बाहरी व्यक्तियों की तलाशी का व्यापक अभियान चलाया जाएगा। इसके अंतर्गत विभिन्न ठहरने वाले स्थान होटल, धर्मशाला, लॉज , सराय, विभिन्न गार्डन के अतिरिक्त विभिन्न बस्तियों में चेकिंग की जाएगी। बाहरी व्यक्ति जो कि जिले के मतदाता नहीं है। उन्हें तत्काल बाहर जाने के लिए कहा जाएगा। चेकिंग के दौरान पाए गए ऐसे व्यक्ति व उनको ठहराने वाले व्यक्तियों के खिलाफ  दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। प्रत्येक थाने पर थाना प्रभारी की मोबाईल के अतिरित्क 1-1 क्यूआरटी मोबाइल उप निरीक्षक के नेतृत्व में बनाई गई है। इसके अलावा थाना क्षेत्र में अन्य मोबाईलें भी लगातार भ्रमण करेंगी। पूरे जिले में 200 सेक्टर मजिस्ट्रेट की मोबाईलों के साथ-साथ 10 से 12 केंद्रों पर एक पुलिस मोबाईल बनाई गई है, जो इन 10-12 मतदान केंद्रों पर लगातार भ्रमण कर निगरानी करेगे।

– 1200 सीसीटीवी कैमरों से होगी निगरानी 

अधिकतर मतदान केन्द्रों पर वेबकास्टिंग, सीसीटीवी तथा वीडियोग्राफ ी के द्वारा निगरानी रखी जाएगी। इसके अलावा शहर में करीबन 1200 सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से मतदान केंद्रों पर नजर रखी जाएगी। चुनाव के लिए केंद्रीय बल की 18 कंपनियां प्राप्त हुई है, जिनमें बीएसएफ, सीआरपीएफ, एसएसबी, सीआईएसएफ, आरएएफ, आरपीएफ, एसएसबी, आईटीबीपी आदि कंपनियां हैं। इन सभी कंपनियों को क्रिटिकल मतदान केंद्रों पर लगाया गया है। इसके अतिरिक्त जिले में तैनात 9 एसएएफ  कंपनी के अधिकांश बल को विभिन्न सुरक्षा व्यवस्था के लिए लगाया है। जिले की सीमा पर पूर्व से पांच स्थानों पर 24 घंटे चेकिंग चल रही थी, जिसे बढ़ाकर सभी 17 स्थान जो कि जिले की सीमा पर लगते हैं, जिनमें पुलिस अधिकारी एवं बल को लगाया गया है, जो आगामी आदेश तक सतत चेकिंग करते रहेंगे।

– बीते पांच महिनों में यह हो चुकी कार्रवाई

1 जून से अब तक कुल 10904 स्थाई एवं गिरफ्तारी वारंटों की तामीली की गई है। इसी तरह अवैध शराब के 1646 प्रकरण बनाते हुए 12090 लीटर शराब जब्त की गई। अवैध हथियार रखने पर 848 प्रकरण बनाए। इन प्रकरणों में 35 अवैध कट्टे, पिस्टल जब्त किए गए है। साथ ही 44 कार्टेज भी जब्त किए गए। 36110 सीआरपीसी (दंड प्रक्रिया संहिता) के प्रकरण बनाए गए हैं। इसमें 32783 व्यक्तियों पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई। 19236 बदमाशों का बाउंड ओवर कराया गया है। 131 लोगों को जिलाबदर तथा 14 पर रासुका की कार्रवाई की गई। 112 व्यक्तियों को शांति भंग करने पर बाउण्ड जप्ती आदि की कार्यवाही धारा 122 सीआरपीसी के तहत की गई है। बाउंड ओवर में जिन्हें (कार्यपालिक दंडाधिकारी ने) बाउंड ओवर किया है उन्हें (रेड कार्ड) जारी किए गए है। उन्हें सूचित किया गया है कि यदि वे शांति भंग करेंगे तो उनकी जमानत के बाउंड जब्त हो सकते है।