सीएम ने किया रोजगार सेतु पोर्टल का शुभारंभ, मजदूरों को मिलेगा रोजगार

भोपाल| मध्य प्रदेश सरकार (Madhya Pradesh Government) ने प्रदेश लौटे प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) को काम दिलाने के लिए रोजगार सेतु पोर्टल लांच किया है| पोर्टल पर सभी प्रवासी मजदूरों का पंजीयन किया गया है। साथ ही ऐसे नियोक्ताओं का पंजीयन किया गया है, जिन्हें विभिन्न कार्यों के लिए कुशल/अकुशल मजदूरों की आवश्यकता है। मजदूरों को उनकी कुशलता एवं दक्षता के अनुसार कार्य दिलाया जाएगा|

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने रोजगार सेतु पोर्टल का शुभारंभ कर कहा कि पोर्टल पर 7 लाख 30 हजार प्रवासी श्रमिकों तथा 5 लाख 79 हजार उनके परिवार के सदस्यों का़, इस प्रकार कुल 13 लाख 10 हजार का पंजीयन किया जा चुका है। इसी प्रकार पोर्टल पर 5 हजार 246 नियोक्ताओं/रोजगार प्रदाय कर्ताओं का पंजीयन कर लिया गया है। पोर्टल के शुभारंभ के पहले ही दिन 79 मजदूरों को उनके कौशल के अनुसार कार्य मिलना प्रसन्नता का विषय है। श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश भारत का ऐसा पहला राज्य है, जिसने समस्त प्रवासी मजदूरों का सर्वे पूर्ण कर लिया है। उन्होंने 7 दिन की अल्प अवधि में इस कार्य को पूरा करने के लिए श्रम विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. राजेश राजौरा सहित विभागीय अमले तथा एनआईसी के अमले को बधाई दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रोजगार पोर्टल के शुभारंभ के पश्चात विभिन्न जिलों से प्रवासी श्रमिकों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से बातचीत की।

यह ऑनलाइन रोजगार मेला है
मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस ने कहा कि रोजगार सेतु पोर्टल ऑनलाइन रोजगार मेला है। पोर्टल पर एक ओर जहाँ सभी मजदूर पंजीकृत हैं, वहीं दूसरी ओर विभिन्न नियोक्ता पंजीकृत हैं। नियोक्ता अपनी आवश्यकता के अनुसार मजदूरों का चयन कर सकते हैं। पोर्टल के माध्यम से ही मजदूर को नियुक्ति पत्र मिल जाता है।