सिंधिया के गढ़ में सेंध लगाने कांग्रेस ने सौपी इस जुझारू नेता को कमान

भोपाल| मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव (By Election) को लेकर कांग्रेस congress ने कमर कस ली है और कमलनाथ (Kamalnath के वॉररूम में उपचुनावो को लेकर लगातार तैयारियां जारी हैं। इन सबके बीच ग्वालियर चंबल (Gwalior-Chambal) संभाग (Division) सबसे महत्वपूर्ण साबित होने वाला है क्योंकि एक तो यह ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiradiyta Scindia) का गढ है और वहां होने वाले सभी 17 सीटों के उपचुनाव पर सिंधिया की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। इसके साथ-साथ यह बीजेपी के कद्दावर नेताओं नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) जयभान सिंह पवैया (Jaybhan Singh Pawaiya) प्रभात झा (Prabhat Jha) यशोधरा राजे सिंधिया (Yashodhra raje scindia) जैसे बड़े नेताओं की प्रभाव क्षेत्र भी है ।ऐसे में कांग्रेस ने ग्वालियर चंबल संभाग की सीटों पर प्रवक्ता के रूप में शिवराज सरकार (Shivraj Government से लगातार 15 साल लोहा लेते रहे केके मिश्रा (k.k.mishra) को वहां भेजा है ।

केके मिश्रा को कांग्रेस का फायरब्रांड नेता माना जाता रहा है और शिवराज सरकार की 15 साल के कार्यकाल में वह लगातार कई मुद्दों पर सरकार को घेरते रहे हैं जिनमे व्यापम, डंपर जैसे मामले भी शामिल है। इसको लेकर उन्हें सरकार की ओर से मानहानि का भी सामना करना पड़ा था लेकिन इसके बावजूद उनकी धार में कोई कमी नहीं आई। केके मिश्रा को इस बार यह अहम जिम्मेदारी दी गई है कि वह न केवल सिंधिया के गढ़ में सेंध लगाकर कांग्रेस की जीती हुई सीटों को वापस लाएं बल्कि साथ ही साथ सिंधिया के प्रभाव क्षेत्र को भी कम करें। मिश्रा के सहयोग हेतु प्रवक्ता त्रय दुर्गेश शर्मा,राम पांडे एवं रवि सक्सेना संबद्ध रहेंगे।

इसके अलावा अन्य क्षेत्रो के लिये इन प्रवक्ताओ को मीडिया प्रबंधन हेतु दायित्व दिया गया है।भूपेन्द्र गुप्ता उपाध्यक्ष को सांची एवं सुरखी,सैय्यद जाफर उपाध्यक्ष को अनूपपुर,अभय दुबे उपाध्यक्ष को आगर एवं हाटपीपल्या,नरेंन्द्र सलूजा अध्यक्षीय मीडिया समन्वयक सांवेर,सुवासरा तथा बदनावर उपरोक्त पदाधिकारी संबंधित विधानसभा क्षेत्रों के अंतर्गत समस्त प्रिंट मीडिया एवं इलेक्ट्रनिक मीडिया से संपर्क में रहेंगे एवं क्षेत्रीय कार्यकर्ताओं से संपर्क में रहेंगे।स्थानीय स्तर पर प्रेस कान्फ्रेंस, विडियो कांन्फ्रेंस के माध्यम से संपर्क बनायेंगे। कांग्रेस पार्टी द्वारा माईक्रो मेनेजमेंट किया जायेगा।