ईगल सीड्स पर होगी FIR, कृषिमंत्री बोले ‘किसानों से धोखाधड़ी करने वाले बख्शे नहीं जाएंगे’

भोपाल। बीज के नाम पर किसानों के साथ धोखाधड़ी करने वालों के खिलाफ सरकार ने सख्ती दिखाई है| कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल (Kamal Patel) ने इंदौर (Indore) में बीज के नमूने अमान्य होने पर ईगल सीड्स कंपनी (Eagle Seeds Company) के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं। कंपनी का लायसेंस निरस्त कर दिया गया है।

बता दें कि यह कंपनी मध्यप्रदेश के अलावा अन्य राज्यों में भी व्यवसाय कर रही है। इंदौर में 247 नमूनों की जांच में 17 नमूने फेल हुए इनमें से 14 ईगल सीड्स के ही हैं। इस मामले में कृषि मंत्री कमल पटेल ने साफ चेतावनी दी है कि किसानों के साथ धोखाधड़ी देशद्रोह है, ऐसे मामलों में रासुका के तहत कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। कमल पटेल ने कहा कि प्रदेश में इस बार खाद का कहीं कोई संकट नहीं है, प्रदेश में पहले से इंतजाम कर लिए जाने के कारण कहीं कोई समस्या नहीं आई। उन्होंने माना कि मानसून समय पूर्व आने से बोवनी कई जिलों में सौ फीसदी तक हो गई इससे वहां मांग और आपूर्ति में अंतर है हालांकि इसकी पूर्ति के प्रयास किए जा रहे हैं।

47 हजार मैट्रिक टन यूरिया जल्द आएगा
कृषि मंत्री पटेल ने बताया कि गत वर्ष की तुलना में अब तक तीस प्रतिशत अधिक यूरिया और पचास प्रतिशत अधिक डीएपी वितरित किया जा चुका है। कमल पटेल ने कहा कि बोवनी अच्छी होने से एक लाख बीस हजार मैट्रिक टन यूरिया की अतिरिक्त मांग निकली है इसकी पूर्ति के लिए भारत सरकार से अनुरोध किया गया है। केन्द्र सरकार ने 47 हजार मैट्रिक टन यूरिया उपलब्ध कराने के लिए कहा है इसकी रैक जल्द ही आ जाएंगी जिसे किसानों को वितरित कर दिया जाएगा।

कांग्रेस काल में पनपे माफिया, अब बख्शे नहीं जाएंगे
कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल ने कहा कि कांग्रेस के कार्यकाल में माफिया पनपने लगा था, किसानों के साथ धोखाधड़ी की गई थी, मुनाफाखोर और कालाबाजारी करने वाले सक्रिय हो गये थे, भाजपा ने सत्ता में आते ही किसानों के हित में फैसले लेना शुरू किया है, अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि किसानों के साथ धोखाधड़ी करने वाला कोई भी हो बख्शा नहीं जाना चाहिए।