कमलनाथ का मुख्यमंत्री को पत्र- ‘पेट्रोल-डीजल में मूल्य वृद्धि गलत, वापस ले सरकार’

भोपाल| कोरोना संकट (Corona Crisis) के बीच मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) को एक बार फिर पत्र लिखा है| उन्होंने सीएम से पेट्रोल डीजल (Petrol-Diesel) के दामों में गई वृद्धि को वापस लेने मांग की है| उनका कहना है कि सरकार की नीतियों के कारण बेरोजगारी एवं महंगाई चरम पर है एवं आमजन परेशान है, ऐसे में पेट्रोल डीजल की वृद्धि कर सरकार द्वारा जनता के प्रति असंवेदनशील व्यवहार किया जा रहा है| कमलनाथ ने कहा जनहित में सरकार इस मूल्य वृद्धि को वापस ले, अन्यथा कांग्रेस सड़कों पर उतारकर आंदोलन करेगी|

पूर्व सीएम कमलनाथ ने पत्र में कहा वर्तमान में कोरोना मरीज कारण हमारा देश भीषण आर्थिक एवं सामाजिक संकट से गुजर रहा है| सरकार की नीतियों के कारण बेरोजगारी एवं महंगाई चरम पर है एवं आमजन परेशान है | ऐसी स्थिति में प्रदेश सरकार द्वारा पेट्रोल एवं डीजल पर ₹5 प्रति लीटर की वृद्धि की गई है जो कि गरीबी में आटा गीला करने के समान है| वहीं हमारी सरकार द्वारा प्रदेश के कर्मचारियों को दिए गए 5% महंगाई भत्ते को भी आपकी सरकार ने रोक दिया और केंद्र सरकार ने भी यही काम एक कदम आगे जाकर जुलाई 2021 तक के लिए कर्मचारियों के सभी प्रकार के लाभों पर रोक लगाकर किया है ऐसे में कर्मचारी गण भी परेशान है|

कमलनाथ ने लिखा कि प्रदेश में खेती करना भी महंगा हो गया है| कृषि कार्य हेतु किराए पर उपलब्ध ट्रैक्टरों का किराया दुगना हो गया है | बीज एवं खाद की कीमतें भी बढ़ गई है और उस पर किसान की फसल को विक्रय के लिए बाजार एवं उचित मूल्य नहीं मिल पा रहा| उन्होंने लिखा एक और कोरोना बीमारी के कारण आमजन कि आय समाप्त होने से जनता वैसे ही परेशान हैं उस पर पेट्रोल डीजल की मूल्य वृद्धि कर सरकार द्वारा जनता के प्रति असंवेदनशील व्यवहार किया जा रहा है| कमलनाथ ने मांग की है कि पेट्रोल एवं डीजल पर की गई वृद्धि सरकार जनहित में वापस ले और केंद्र सरकार को भी इस मूल्य वृद्धि को वापस लेने की सलाह दें अन्यथा कांग्रेश पार्टी को जनहित में मजबूरन सड़क पर उतरकर आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ेगा|