भेष बदल कर इंदौर में छुपा इनामी भूमाफिया गिरफ्तार, प्लॉट बेचने के नाम पर की करोड़ो की ठगी

भोपाल| राजधानी भोपाल (Bhopal) में 200 प्लॉटों को बेचने के नाम पर लोगों से करोडों रूपये की धोखाधडी (Fraud) करने वाले भूमाफिया रमाकांत विजयवर्गीय को भोपाल पुलिस (Bhopal Police) ने गिरफ्तार कर लिया है| वह भेष बदलकर रामकुमार व्यास के नाम से इंदौर में निवास कर रहा था| जिसे भोपाल आने की गोपनीय सूचना के आधार पर भोपाल पुलिस की सायबर क्राईम एवं कोहेफिजा थाने की टीम द्वारा मंगलवार की रात्रि में गिरफ्तार किया गया है।

आरोपी रमाकांत विजयवर्गीय पिता बापूलाल विजयवर्गीय उम्र 58 वर्ष निवासी इंदौर के द्वारा एक कंपनी जिसका नाम डिस्ट्रीक इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रायवेट लिमिटेड बनाई गई थी। आरोपी द्वारा उक्त कंपनी के माध्यम से वर्ष 2005 में पंचवटी फेस-2 एवं 3 कॉलोनी में भूखंड विक्रय के नाम पर करीब 200 लोगों से फर्जी तरीके से करीबन 20 करोड रूपये की धोखाधडी की गई।

आरोपी के खिलाफ थाना कोहेफिजा में वर्तमान में धोखाधडी के कुल 22 प्रकरण पंजीबद्ध है। वर्तमान में 29 प्रकरणों में वो फरार था, जिसके विरूद्ध न्यायालय द्वारा स्थाई वारंट जारी किये गये है। आरोपी के विरूद्ध न्यायालय भोपाल में विचाराधीन प्रकरण जिनमें 138 अन्य आवेदन पत्र संलग्न थे, विचारण के दौरान माननीय न्यायालय द्वारा अपराध पंजीबद्ध करने हेतु निर्देशित किया गया था, जिनमें 38 आवेदन पत्रों पर अपराध पंजीबद्ध किये जा चुके है तथा शेष 100 आवेदन पत्रों पर अपराध पंजीबद्ध किये जाने है।

बता दें कि आरोपी रमाकान्त विजयवर्गीय पर 20 हजार रूपये का ईनाम घोषित था। पुलिस ने उसके पास से फर्जी पहचान पत्र बरामद किये है।