शराब ठेकेदारों को मनाने अब सरकार की ओर से आया यह प्रस्ताव

543

भोपाल| शायद ऐसा देश में पहली बार हो रहा हो जब सरकार (Government) इस बात को लेकर परेशान है कि शराब (Liquor) की दुकानें नहीं खुल रही और ठेकेदार है कि दुकान खोलने को तैयार नहीं । दरअसल पूरा मामला राजस्व revenue से जुड़ा है ।शराब से मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) की सरकार को एक बड़े हिस्से के राजस्व की आय होती है जिसके चलते सरकार परेशान है कि आखिरकार कैसे शराब ठेकेदार दुकानों को जल्द खोलें| लेकिन ठेकेदारों का कहना है कि मार्च और अप्रैल में बंद रही दुकानों के चलते उन्हें जो हानि उठानी पड़ रही है उसकी पूर्ति सरकार करें नहीं तो अभी दुकाने नहीं खुलेंगी।

सरकार की ओर से उन्हें मनाने की कोशिशें लगातार जारी है। अब एक नए प्रस्ताव (Proposal) में सरकार ने शराब ठेकेदारों को यह आश्वासन दिया है उनके दो माह के घाटे की पूर्ति के लिए उन्हें अगले वर्ष अप्रैल और मई में भी शराब की दुकानें चलाने की अनुमति दी जाएगी| जबकि वर्तमान में अनुमति केवल वित्तीय वर्ष 2020-21 यानी मार्च 2021 तक के लिए है। हालांकि इसके लिए शराब ठेकेदारों को दस माह की ड्यूटी देनी होगी।

अब शराब ठेकेदार इस बात के लिए तो राजी हो गए हैं लेकिन अभी भी उन्होंने हाईकोर्ट (High Court) में जो मामला लगा रखा है उसके निर्णय का उन्हें इंतजार है जिसमें उन्होंने सरकार से होने वाले घाटे की पूर्ति की मांग की है। अब इस बात की उम्मीद बन गई है कि शराब ठेकेदार जल्द दुकान खोल देंगे और सरकार के साथ-साथ सुरा प्रेमियों की आशा भी पूरी हो सकेंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here