कोरोना पॉजिटिव भाजपा विधायक के संपर्क वाले 5 विधायकों की आई रिपोर्ट

भोपाल| मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में नीमच जिले की जावद विधानसभा सीट से भाजपा विधायक ओमप्रकाश सकलेचा (Omprakash Saklecha) के कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) निकलने के बाद उनके संपर्क में आये नेता भी अपना टेस्ट करा रहे हैं| उनके संपर्क में आने वाले 5 अन्य विधायकों की जांच की गई थी। सभी विधायकों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। सभी विधायकगण एहतियात एवं निर्धारित प्रोटोकॉल के तहत अभी भोपाल में ही होम कोरेन्टीन रहेंगे| अभी विधायकों के स्टाफ की रिपोर्ट आना बाकी है|
भाजपा के विधायक ओमप्रकाश सकलेचा की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सकलेचा एक दिन पहले ही राज्यसभा चुनाव में वोट डालने के लिए विधानसभा पहुंचे थे। अब उनके संपर्क में आने वाले विधायकों का टेस्ट किया जा रहा है। विधानसभा ने भी एक पत्र जारी कर सभी विधायकों को सतर्कता बरतने की अपील की है। बीजेपी विधायक के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद आज रविवार को विधानसभा ने पत्र जारी कर सभी विधायकों को स्वनिगरानी बरतने की अपील की है। वही पत्र में जरुरत पड़ने पर जांच कराने की भी बात कही गई है। सतर्कता के लिए विधानसभा ने पत्र जारी कर सभी विधायकों को अलर्ट किया है। बता दें कि मध्यप्रदेश में ही बीते दिनों एक कांग्रेस विधायक भी कोरोना संक्रमित पाए गए थे।
यह कहा जा रहा है कि विधायक सकलेचा कई लोगों से मिले थे | खबर है कि राज्यसभा चुनाव में वोटिंग और विधायकों से संपर्क ही नही बल्कि सकलेचा दो दिन पहले पूर्व मंत्री पारस जैन  के घर खाना खाने भी पहुंचे थे। उनके साथ भाजपा के पांच विधायक भी शामिल थे। जिन पांचों विधायकों की रिपोर्ट निगेटिव आयी है। इन विधायकों में देवीलाल धाकड, दिलीप मकवाना, अनिरुद्ध, दिलीप सिंह और यशपाल सिंह सिसोदिया शामिल हैं।
विधानसभा के सीसीटीवी फुटेज और सुरक्षाकर्मियों से पता चला है कि सकलेचा राज्यसभा चुनाव के दौरान मतदान की लाइन में ही नहीं कई अन्‍य जगहों पर भी लोगों से मिले थे। यही नहीं वह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कक्ष में भी पहुंचे थे। इतना ही नही वे केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से भी काफी देर तक निकट बैठकर बात करते रहे। इस दौरान वह भाजपा के कई नेताओं के संपर्क में आए। विधायक दल की बैठक में भी सकलेचा बिना मास्क लगाए बैठे थे। बताया जाता है कि सभी विधायकों और उनके स्टाफ को डॉक्टरों ने होम क्वारंटाइन रहने की सलाह दी है। वही विधानसभा सचिवालय ने राज्यसभा चुनाव में मतदान के फुटेज निकालने के आदेश दिए हैं, ताकी पता लगाया जा सके सकलेचा किस किस के संपर्क में आए थे।