मजदूरों से किराया वसूली कर अवैध परिवहन करने वाले वाहनों पर होगी कार्रवाई

भोपाल| प्रदेश में लागू लॉकडाउन (Lockdown) के बीच सरकार मजदूरों की घर वापसी करा रही है| वहीं प्रवासी मजदूरों का अवैध परिवहन भी शुरू हो गया है और वाहन चालकों द्वारा इनसे 3000 तक किराया वसूला जा रहा है| सतना (Satna) और ग्वालियर (Gwalior) में इस तरह का मामला सामने आने के बाद पुलिस (Police) ने वाहन चालकों को गिरफ्तार भी किया गया है| वहीं परिवहन आयुक्त (Transport Commissioner) व्ही. मधु कुमार ने जिला परिवहन अधिकारीयों को आदेश जारी कर नियमित रूप से यात्री वाहन, मालयानों की चेकिंग करने के निर्देश दिए हैं|

परिवहन आयुक्त के आदेश में कहा गया प्रदेश में कोई भी मालयान को रोका जाना निषेध किया गया था| लेकिन कुछ माल यान चालाक/ मालिकों द्वारा उक्त आदेश का दुरुपयोग कर एक राज्य से दूसरे राज्य के मध्य प्रवासी मजदूरों का अवैध परिवहन किया जा रहा है| साथ ही मजदूरों से 3000 रुपए तक किराया वसूल किया जा रहा है| इस सम्बन्ध में सतना एवं ग्वालियर पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज कर वाहन चालकों को गिरफ्तार भी किया गया है| इसी प्रकार का एक मामला 5 मई 2020 को संज्ञान में आया है जिसमें बस क्रमांक 410 775 द्वारा अवैध रूप से प्रवासी व्यक्तियों का परिवहन करते पाया गया| ढाई हजार रुपय किराया वसूल किया गया, इस वाहन के विरुद्ध की पुलिस में प्रकरण दर्ज किया गया है

परिवहन आयुक्त ने कहा मोटरयान चालकों/मालिकों पर उक्त कृत्य के कारण जहां एक और गरीब मजदूर शोषण का शिकार हो रहे हैं वहीं दूसरी ओर इस प्रकार के अवैध प्रवजन के कारण कोरोना संक्रमण का फैलाव बढ़ने की संभावना है| नियमित चेकिंग के अभाव में वाहनों के अवैध व खतरनाक स्थिति में सञ्चालन संबंधी शिकायतें प्राप्त हो रही है| परिवहन आयुक्त ने आदेश दिया है कि समस्त यात्री वाहन तथा माल्याणों की चेकिंग की जाए ताकि प्रवासियों का अवैध परिवहन तथा मोटर यान अधिनियम के अंतर्गत निर्मित नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहनों पर प्रभावी अंकुश लग सके|