शिवराज के क्षेत्र में ‘साईं प्रसाद’ ने करोड़ों ठगे, दिग्विजय ने सीएम को लिखा पत्र

भोपाल| मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) के विधानसभा क्षेत्र में किसान, आदिवासियों के साथ साईं प्रसाद चिटफंड कंपनी (Sai Prasad Chitfund Company) द्वारा करोड़ों रुपए की लूट को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने सरकार पर हमला बोला है| दिग्विजय सिंह ने सीएम शिवराज को इस मामले में पत्र लिखकर किसानों को पैसे वापस दिलाने और कंपनी के खिलाफ जांच कर कार्रवाई की मांग की है|

दिग्विजय ने कहा वे गत सप्ताह नसरुल्लागंज के गांवों के दौरे पर गए थे, इस दौरान उन्हें आसपास के किसानों द्वारा 8 वर्ष पूर्व छले जाने की दास्तान विस्तार से बताई गई| जिस समय आपके विधानसभा क्षेत्र के आदिवासी किसानों के साथ लूट हो रही थी तब भी आप मुख्यमंत्री थे और आज जब न्याय की तलाश में किसान भटक रहे हैं अब भी आप मुख्यमंत्री हैं| इस दौरान बीच की अवधि में कांग्रेस पार्टी की सरकार के समय मुख्यमंत्री कमलनाथ के संज्ञान में युवा किसान नेता अर्जुन आर्य ने आदिवासी किसान लूट कांड का मामला उठाया था तो कमलनाथ जी ने बरसों से भटक रहे आदिवासी किसान परिवारों की ओर से लूट करने वाली कंपनी के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कराई थी|

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा आदिवासी और पिछड़े वर्ग के छोटे-छोटे गरीब किसानों को छले जाने की दास्ताँ 2012 के आसपास शुरू हुई जब नसरुल्लागंज में घोघरा जलाशय बनाने के लिए आप की सरकार ने गरीब आदिवासियों की जमीन अधिग्रहित कर उन्हें भूमिहीन कर दिया और बदले में उन्हें दो लाख प्रति एकड़ का मुआवजा देकर घर बैठा दिया| आपके तत्कालीन और पुनः अभी अभी कैबिनेट मंत्री बने कमल पटेल की विधानसभा क्षेत्र में एक बहुत बड़ी फर्जी संस्था साईं प्रसाद प्रॉपर्टीज के नाम से चल रही थी | इस कंपनी के एजेंट को बड़े-बड़े स्थानीय नेताओं का संरक्षण प्राप्त था यह एजेंट हरदा से बुधनी विधानसभा की नसरुल्लागंज तहसील में आते थे, उन गरीब आदिवासी किसानों के साथ लूट करते थे, जिन्हें अपनी डूब में आई जमीन के लिए लाखों रुपए मुआवजे के रूप में मिले थे | इस कंपनी के एजेंट 6 साल में जमा लाखों रुपए को दोगुना करने का झांसा देकर रुपए हड़पते थे| इसकी बैंक सहित पुलिस प्रशासन को कोई खबर नहीं लगी|

उन्होंने कहा नसरुल्लागंज तहसील के ग्राम आमलापानी, घुटवानी, फड़की और भूरीडेरा के अनेक किसानों से साईं प्रसाद कंपनी के एजेंटों ने लाखों रुपए जमा कराये और कंपनी की ओर से जमा रुपयों की रसीद दी गई| 6 साल बीत जाने के बाद एजेंटों से जब अपनी रकम मांगी तो उनके होश उड़ गए, पता चला कि उनके साथ धोखाधड़ी कर ली गई है| ठगी के शिकार किसान अपनी राशि प्राप्त करने एजेंटों के चक्कर लगाते रहे|

दिग्विजय ने कहा यह जांच का विषय है कि आपकी बुधनी विधानसभा जिसका आप 1990 से लोकसभा और विधानसभा में प्रतिनिधित्व कर रहे हैं आप के मुख्यमंत्री रहते हुए कैसे करोड़ों रुपए लूट लिए गए और शासन-प्रशासन सब कुछ जानते हुए भी मूक बना रहा आप चौथी बार मुख्यमंत्री बने और बात-बात पर आदिवासियों के हितों की दुआएं देते हैं। जितने भी किसान मजदूर साईं प्रसाद कंपनी के हाथों प्रदेश में लूट का शिकार बने उनको ब्याज सहित राशि वापस दिलवाने के लिए सख्त कार्रवाई करें, अभी तक सभी आरोपी फरार हैं पुलिस किसी भी संचालक को पकड़ने की हिम्मत नहीं जुटा पा रही है|

शिवराज के क्षेत्र में 'साईं प्रसाद' ने करोड़ों ठगे, दिग्विजय ने सीएम को लिखा पत्र शिवराज के क्षेत्र में 'साईं प्रसाद' ने करोड़ों ठगे, दिग्विजय ने सीएम को लिखा पत्र शिवराज के क्षेत्र में 'साईं प्रसाद' ने करोड़ों ठगे, दिग्विजय ने सीएम को लिखा पत्र