शिवराज को महिला की चिट्ठी, ‘प्यारे भैया! काल्पनिक वेतन वृद्धि से पेट नहीं भरता’

भोपाल|डेस्क रिपोर्ट|

कोरोना काल में बिगड़ी स्थिति का सबसे बड़ा असर प्रदेश के लाखों कर्मचारियों पर भी पड़ा है| कोरोना के खिलाफ खर्च किये जा रहे वित्तीय संसाधनों के चलते कर्मचारियों के डीए, सातवे वेतनमान की अंतिम किश्त अटक गई है, वहीं वार्षिक वेतन वृद्धि पर भी संकट बना हुआ है| इस बीच रक्षाबंधन पर एक महिला ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भैया बताते हुए एक भावनात्मक पत्र लिखकर वेतन वृद्धि का उपहार मांगा है।

भोपाल की महिला के पति नापतौल विभाग में सहायक ग्रेड-2 के पद पर हैं| बागमुगालिया इलाके में रहने वाली नीलम तिवारी के पति उमाशंकर तिवारी सरकारी नौकरी करते हैं। मुख्यमंत्री को उन्होंने पोस्टकार्ड पर पत्र लिखकर इस पोस्ट किया है।

काल्पनिक वेतन वृद्धि से पेट नहीं भरता
पत्र में महिला ने लिखा है प्यारे भैया- वेतन वृद्धि मांगी है, इसे लड़ाई न समझना। उन्होंने लिखा काल्पनिक वेतन वृद्धि से पेट नहीं भरता है और ना ही परिवार चलता है। मंगाई बढ़ती जा रही है। लॉकडाउन के कारण सबकुछ बंद है, लेकिन मकान से लेकर गाड़ी, टीवी, फोन और अन्य किस्त तो भरना ही है। पेट के लिए रोज खाना भी चाहिए। बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए पढ़ाना जरूरी है। ऐसे में उनकी कॉपी किताबें और स्कूल की फीस भी भरना है। आप हमारे भैया हैं, तो इस रक्षाबंधन पर हम बहनों को अपने जीजाजी की वेतन वृद्धि कर उपहार दे दें।

थोड़ा लिखा है ज्यादा समझना
महिला ने लिखा थोड़ा लिखा है ज्यादा समझना| परिवार में सब अच्छे है, आपके परिवार में भी सब अच्छे होंगे, यही उम्मीद करती हूँ, पत्र का जवाब शीग्र देना| सोशल मीडिया के दौर में महिला का यह पोस्ट कार्ड चर्चा में है|

शिवराज को महिला की चिट्ठी, 'प्यारे भैया! काल्पनिक वेतन वृद्धि से पेट नहीं भरता' शिवराज को महिला की चिट्ठी, 'प्यारे भैया! काल्पनिक वेतन वृद्धि से पेट नहीं भरता'