मप्र में खाता नहीं खोल पाए ‘आप’ और ‘सपाक्स’, जनता ने नकारा

AAP-and-sapaks-were-not-won-any-seat-in-MP-public-rejected

भोपाल। विधानसभा चुनाव से पहले एट्रोसिटी एक्ट एवं आरक्षण के विरोध में सपाक्स समाज संगठन ने सरकार के खिलाफ प्रदेश भर में जबर्दस्त आंदोलन किया। इतना ही नहीं सपाक्स संगठन ने राजनीति में उतरने का ऐलान भी कर दिया। ऐसे में सपाक्स पार्टी ने प्रदेश भर में अपने प्रत्याशी चुनाव में उतारे। लेकिन जनता ने सपाक्स को पूरी तरह से नकार दिया है। किसी भी सीट पर सपाक्स प्रत्याशी को ज्यादा तवज्जो नहीं मिली। ऐसा ही आम आदमी पार्टी के साथ हुआ। जनता ने आप को भी पूरी तरह से नकार दिया है।

सपाक्स पार्टी ने शिवराज सरकार के खिलाफ प्रदेश भर में आंदोलन किया था। खासकर सवर्णों को शिवराज सरकार के खिलाफ एकजुट करने का काम किया। चुनाव में सपाक्स के दावे काम नहीं आए। किसी भी सीट पर सपाक्स के प्रत्याशी को जनता ने पसंद नहीं किया। हालांकि सपाक्स पार्टी ने लोकसभा चुनाव में भी उतरने की तैयारी शुरू कर दी है। इसको लेकर पिछले हफ्ते राजधानी भोपाल में दो दिवसीय प्रांतीय बैठक भी हो चुकी है। 

आप के प्रदेश संयोजक को मिले 1277 वोट

आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक आलोक अग्रवाल भोपाल दक्षिण पश्चिम विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में है। यहां कांगे्रस भाजपा में सीधी टक्कर है। आप प्रत्याशी आलोक अग्रवाल को सिर्फ 1277 वोट ही मिले हैं। यही स्थिति आम आदमी पार्टी के अन्य प्रत्याशियों की है। जनता ने आम आदमी पार्टी को भी पूरी तरह से प्रदेश से नकार दिया है।