विधानसभा चुनाव में हार के बाद लोकसभा में नहीं उतरेगी आम आदमी पार्टी

AAP-will-not-contest-loksabha-election

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में करारी हार को लेकर राष्ट्रीय कार्यकारिणी द्वारा एक साल से अधिक समय से सक्रिय आम आदमी पार्टी को लोकसभा चुनाव के लिए कोई खास जिम्मेदारी नहीं दी गई है। इस मामले में प्रदेश प्रभारी गोपाल राय ने दिल्ली में सीएम अरविंद केजरीवाल के निवास पर हुई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी दी। उन्होंने देश के पांच राज्यों दिल्ली, पंजाब, गोवा, चंडीगढ़ और हरियाणा से चुनाव लडऩे की बात कही।

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल हुए मध्यप्रदेश आम आदमी पार्टी के संयोजक आलोक अग्रवाल से इस बाबद् जानकारी चाही की आम आदमी पार्टी ने पांच राज्यों से चुनाव लडऩे की बात कही पर मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ का जिक्र क्यों नहीं किया। इस बारे में ज्यादा कुछ न बोलते हुए उन्होंने कहा कि कुछ सीटों पर आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि 5 राज्यों में पार्टी का ज्यादा फोकस रहेगा। इसलिए इन राज्यों का जिक्र नहीं किया है। जबकि मध्यप्रदेश के लिए कुछ मुद्दे किसान, पेंशन के मुद्दों पर पार्टी अपनी तैयारी करेगी। जबकि उन्होंने पिछले दिनों राजधानी भोपाल में हुई प्रदेश अध्यक्ष एवं संयोजक के इस्तीफे की मांग पर कोई बात नहीं की। जबकि मध्यप्रदेश के करीब 42 पदाधिकारियों सहित मीडिया प्रभारी रहे सचिन श्रीवास्तव ने पार्टी से इस्तीफा देकर मध्यप्रदेश प्रभारी गोपाल राय को प्रदेश में चल रही गतिविधियों की जानकारी दी गई थी। इस पर उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया है।

इनका कहना है

देश के 5 राज्यों में आम आदमी पार्टी लोकसभा का चुनाव लड़ेगी। मध्यप्रदेश में कुछ सीटों पर उम्मीदवार खड़े कर सकती है। कुछ मुद्दों पर सहमती बनी है, जिसको लेकर मतदाताओं के बीच जाएंगे।

आलोक अग्रवाल, संयोजक

आम आदमी पार्टी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here