वैक्सीनेशन अभियान में स्वास्थ्य मंत्री का बेतुका बयान

MP

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मध्यप्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी का बेतुका बयान सामने आया है, प्रदेश में लगातार हो रही बारिश के चलते कई अस्पतालों की बदहाल स्थिति पर स्वास्थ्य मंत्री ने बेतुका बयान दिया है, उन्होंने कहा कि जब अधिक वर्षा होती है तो ये ईश्वर के हाथ मे है पानी कम गिरे या पानी ज्यादा गिरे ये किसी मनुष्य या डॉ के हाथ मे नही है, हम सावधानी बरत रहे हैं। मंत्री मध्यप्रदेश में 5 साल से 16 साल तक के बच्चों को टेटनस और डिप्थीरिया(TD) यानि गलघोंटू की बीमारी से बचाने के लिए वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत कार्यक्रम में आए थे, स्वास्थ्य मंत्री डॉ.प्रभुराम चौधरी ने भोपाल के कमला नेहरू स्कूल से टीकाकरण अभियान की शुरूआत की। इस मौके पर एनएचएम की एमडी प्रियंका दास, स्कूल शिक्षा विभाग के ज्वाइंट डायरेक्टर राजीव सिंह तोमर मौजूद थे।

यह भी पढ़ें… भोपाल : तिरंगा लगाते बिजली के तार से टकराई पाइप, डाक्टर के एकलौते बेटे की मौत

कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने अपील की कि प्रदेश में डीपीटी, टीडी वैक्सीन से कोई बच्चा न छूटे इसका ध्यान रखना स्वास्थ्य विभाग के अलावा स्कूलों के टीचर्स और बच्चों के माता पिता का कर्तव्य है। प्रदेश में यानि 16 अगस्त से इस अभियान की शुरूआत हुई है और 31 अगस्त तक यह अभियान चलेगा। यह वैक्सीन बच्चों को टेटनस और डिप्थीरिया यानि गलघोंटू की गंभीर बीमारी से बचाती है। इस दौरान 31 अगस्त तक प्रदेश के 36 लाख बच्चों का टीकाकरण किया जाएगा। बीते कुछ सालों में टेटनस और डिप्थीरिया (गलघोंटू) की बीमारी बच्चों में देखने को मिल रही है। मप्र में पिछले तीन सालों में 258 बच्चों में डिप्थीरिया की पुष्टि हुई। चिंताजनक बात यह है कि 51 बच्चों की डिप्थीरिया यानि गलघोंटू की बीमारी से मौत हुई है।