माफियाओं के खिलाफ एक्शन में पुलिस-प्रशासन, चार के खिलाफ FIR दर्ज

भोपाल । जिला प्रशासन के सहयोग से भोपाल पुलिस व नगर निगम ने रविवार को चार माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई की है। माफिया पिंकी भदौरिया और बाबू मस्तान पर एफआईआर दर्ज कर 10-10 हजार का इनाम घोषित किया गया। यह ईनाम डीआईजी इरशाद वली ने घोषित किया। इसी तरह तौफीक शूटर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके साथ ही भू-माफिया मुखतार मालिक का श्यामला हिल्स स्थित अहाता रुस्तम खां में बना मकान सील कर दिया गया है। नगर निगम ने मुख्तार की बिल्डिंग पर नोटिस चस्पा किया है कि यह मकान बिना बिल्डिंग परमीशन के बना है। यह कार्रवाई शाम साढ़े 6 बजे की गई। हालांकि जब मकान को सील किया गया, उस वक्त उसमें कोई भी नहीं था। बाद में मुख्तार मलिक पर 15 हजार का इनाम घोषित कर दिया गया। दरअसल, इन चारों माफि याओं पर हत्या का प्रयास, अपहरण, लूट, आम्र्स एक्ट, बलवा, घर में घुसकर मारपीट, जबरिया वसूली, अड़ीबाजी और चौथ वसूली कई मामले दर्ज हैं तथा इसके खिलाफ लगातार शिकायतें भी आ रही थीं।

स्थानीय पार्षद और लोगों ने थाने पर दिया धरना

स्थानीय लोग, क्षेत्रीय पार्षद सबिस्ता जकी और उनके पति एवं कांग्रेस नेता आसिफ जकी, मुख्तार मलिक का मकान सील करने के विरोध में श्यामला हिल्स थाने पहुंचे और धरना दिया। अहाता पार्षद शबिस्ता जकी ने बताया कि शीबा मलिक के घर पर जो नोटिस चस्पा कर तालाबंदी की गई है, उसमें लिखा है कि मकान बिना बिल्डिंग परमिशन के अवैध रूप से बना है, जबकि अहाता रुस्तम खां में किसी भी मकान की बिल्डिंग परमिशन नहीं है, क्योंकि इनका केस हाईकोर्ट में चल रहा है। मेरे मकान की भी बिल्डिंग परमिशन नहीं है। सभी लोग निगम को वॉटर टैक्स और प्रॉपर्टी टैक्स अदा करते हैं। इस बात की हैरानी है कि सिर्फ एक मकान पर कार्रवाई क्यों की गई और वह भी रविवार को छुट्टी वाले दिन। इसके अतिरिक्त नोटिस भी नहीं दिया गया। शबिस्ता ने बताया कि इस मामले में जोन पांच के जोनल अधिकारी अनिल शर्मा कहना था कि पुलिस ने नोटिस जारी कर मकान सील करने को कहा था। हमने नोटिस और तालाबंदी की कार्रवाई आला अधिकारियों के निर्देश पर ही की। जब आयुक्त से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने अपना मोबाइल बंद कर लिया, जबकि अपर आयुक्त का कहना है कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है।