गोद लिए बच्चे से कराते थे घर का काम, चाइल्ड लाइन ने कराया मुक्त

adopted-Children-used-to-do-homemade--child-line-made-free

भोपाल। शाहपुरा थाना इलाका स्थित इंद्रा नगर मल्टी में रहने वाले एक परिवार के कब्जे से चाइल्ड लाइन ने मासूम बच्चे को मुक्त कराया है। आरोपी दंपति बच्चे को पटना के एक आश्रम से गोद ले आए थे। यहां मासूम से घर का काम कराया जाता था। इनकार करने पर उसके साथ में जुल्म और ज्यादती की जाती थी। बेरहमी से उसे पीटा जाता था। आए दिन कपड़े उतारकर घर से निकाल दिया जाता था। जिसकी जानकारी चाइल्ड को अज्ञात कालर ने दी थी। जिसके बाद में टीम ने बच्चे को मुक्त कराया और आरोपी दंपति के खिलाफ प्रकरण दर्ज करा दिया। 

जानकारी के अनुसार आठ वर्षीय मासूम फिलहाल इंद्रा नगर मल्टी शाहपुरा में आरोपी रमेश मालवीय और संध्या मालवीय के साथ रह रहा था। दंपति बच्चे को पटना के एक आश्रम से दतखपुत्र बनाकर गोद ले आए थे। यहां बच्चे को घर का काम कराया जाता था। चाइल्ड लाइन की रा ाी असवानी ने पुलिस को बताया कि 28 जून को शैतानी करने पर दंपति ने बच्चे को बेरहमी से पीटा था। उसे नग्न कर घर से निकाल दिया था। दो दिन तक बच्चा घर से बाहर भटकता रहा। जिसकी सूचना चाइल्ड लाइन को एक अज्ञात कॉलर ने फोन पर दी थी। सूचना के बाद मेें टीम बच्चे की तजदीक के लिए इंद्र नगर मल्टी स्थित रमेश मालवीय के घर पहुंची। जहां बच्चा नहीं मिला। पूछताछ में रमेश ने बच्चे को खरीदकर लाने की बात कही थी। दो दिन बाद में दोबारा टीम बच्चे की बरामदगी के लिए उसी घर पहुंची। जहां से बच्चे को मुक्त कराया गया और शुक्रवार को आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कराया गया। बच्चे को चाइल्ड लाइन ने कस्टडी में ले लिया है। मासूम ने पूछताछ में बताया कि आरोपी उसे घर का काम कराते थे। आए दिन मारते पीटते थे। वहीं पुलिस ने दंपति को हिरासत में ले लिया है।