अस्पताल से ही कामकाज में जुटे CM शिवराज, अफसरों को दिए यह निर्देश

भोपाल| कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव (Corona Positve) आने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) भोपाल के चिरायु अस्पताल (Chirayu Hospital) में भर्ती हैं| अस्पताल से ही मुख्यमंत्री कामकाज को लेकर सक्रिय हैं| रविवार को सीएम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की। कोरोना नियंत्रण को लेकर सीएम ने अफसरों को जरूरी निर्देश दिए|

सीएम शिवराज ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कहा कि प्रदेश में कोविड-19 के पूर्ण नियंत्रण के लिए जनता एवं समाजसेवी संस्थाओं का पूरा सहयोग लिया जाना आवश्यक है। बहुत से लोग मास्क का प्रयोग नहीं करते तथा सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं करते हैं, जो कि कोरोना को नियंत्रित किए जाने के लिए बहुत आवश्यक है। केवल पुलिस इसे सुनिश्चित नहीं करा सकती। इसमें जनता एवं समाजसेवी संगठनों का सक्रिय सहयोग बहुत आवश्यक है। अधिकारी इस संबंध में कार्य योजना बनाकर दो-चार दिन में प्रस्तुत करें। तदनुसार आगे कार्रवाई की जाएगी।

चिरायु अस्पताल ने शनिवार देर रात शिवराज का हेल्थ बुलेटिन जारी किया। इसमें उनकी सभी जांच रिपोर्ट नॉर्मल बताई गई हैं। मुख्यमंत्री अस्पताल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कामकाज कर रहे हैं| हालांकि, इस दौरान डॉक्टर 24 घंटे उन पर नजर रखेंगे।

अस्पताल में सुनी ‘मन की बात’
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शनिवार को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे| उन्होंने खुद इसकी जानकारी अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए दी थी| वे चिरायु अस्पताल में अपना इलाज करा रहे हैं| रविवार को उन्होंने प्रधानमंत्री के मन की बात (Mann ki Baat) कार्यक्रम भी सुना| उन्होंने ट्वीट कर कहा पीएम मोदी ने हमें आत्मनिर्भर भारत के निर्माण का मंत्र दिया है, इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए मध्यप्रदेश तेज़ी से आगे बढ़ रहा है| उन्होंने कहा हम वोकल फॉर लोकर होकर स्थानीय उत्पाद को बढ़ावा दे रहे हैं, साथ ही निरंतर रोज़गार के नए अवसर सृजित कर रहे हैं| उन्होंने लोगों की शुभकामनाओं का अभिनंदन करते हुए लिखा दोस्तों, मैं ठीक हूं, कोरोना वॉरियर्स का समर्पण अभिनंदनीय है| निस्वार्थ भाव से अपनी जान जोखिम में डालकर COVID 19 पीड़ितों की सेवा करने वाले प्रदेश के सभी कोरोना योद्धाओं को मैं प्रणाम करता हूं|

अस्पताल से ही कामकाज में जुटे CM शिवराज, अफसरों को दिए यह निर्देश