भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। राजधानी भोपाल में कोलार के बाद अब गोविंदपुरा इलाके को भी कंटेनमेंट जोन (Cantonment Zone) बनाए जाने की तैयारी की जा रही है। दरअसल पिछले 7 दिनों के दौरान गोविंदपुरा इलाके में एक हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। गोविंदपुरा के अयोध्या नगर औद्योगिक क्षेत्र में सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज मिल रहे हैं, जिसके चलते गोविंदपुरा को दूसरा बड़ा कंटेनमेंट जोन बनाए जाने पर विचार किया जा रहा है।
यह भी पढ़ें:-कोरोना काल में मप्र के कक्षा 6वीं और 8वीं के छात्रों को लेकर एक और बड़ा फैसला

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) पहले की राजधानी भोपाल में कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक कर निर्णय लेने के निर्देश दे चुके हैं। हालांकि इस बैठक में भोपाल में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाए जाने को लेकर निर्णय नहीं हो सका है। माना जा रहा है कि आज होने वाली जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लिए जा सकते हैं। यह भी माना जा रहा है कि जिला प्रशासन टोटल लॉकडाउन के पक्ष में नहीं है। बताया जा रहा है कि जिला प्रशासन गोविंदपुरा समेत ऐसे क्षेत्रों को चिन्हित कर रहा है, जहां संक्रमित ज्यादा मिल रहे हैं। फिर उन्हीं इलाकों में टोटल लॉकडाउन लगाया जाएगा। इधर गोविंदपुरा क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन बनाकर वहां टोटल लॉकडाउन लगना तय माना जा रहा है।

राजधानी में कोरोना की स्थिति
राजधानी भोपाल में कोरोना के 24 घंटों के दौरान 736 नए मामले सामने आए। इसके बाद शहर में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 57334 हो गई है। शहर में अब तक कोरोना के 645 संक्रमित अपनी जान गवा चुके हैं। राहत की बात ये है कि, इनमें से 51601 लोग अब तक स्वस्थ हो चुके हैं। जबकि, शहर में अब भी 5088 एक्टिव केसेज हैं।