राज्यपाल से मुलाकात के बाद बोले नाथ- 10 सालों तक मुझे CM के तौर पर देखेंगे

1818
kamalnath-not-going-karnatak-stay-in-delhi-

भोपाल।
मध्य प्रदेश में बढ़ी राजनैतिक सरगर्मियों के बीच आज शुक्रवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात की।इस दौरान मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश में भाजपा द्वारा की जा रही विधायकों की हॉर्स ट्रेडिंग को लेकर एक पत्र सौंपा। उन्होंने राज्यपाल से मांग की है वे गृह मंत्री अमित शाह से बेंगलुरु में कथित तौर पर बंधक विधायकों को मुक्त कराने के लिए कहें। राज्यपाल के साथ मुलाकात करने के बाद सीएम कमलनाथ ने मीडियाकर्मियों से बातचीत की और दावा किया कि कमलनाथ को आप और 10 सालों तक मुख्यमंत्री के तौर पर देखेंगे।

कमलनाथ ने इस दौरान कहा- हमने राज्यपाल से कहा कि बेंगलुरू में जिस तरह से विधायकों को बंधक बनाकर रखा वो दुनिया ने देखा. उन विधायकों को सबके सामने लाया जाए। कमलनाथ ने कहा कि राज्यपाल के साथ बातचीत में बजट सत्र आगे बढ़ाने को लेकर भी चर्चा हुई। वही दावा करते हुए सीएम ने कहा कि कमलनाथ को आप और 10 सालों तक मुख्यमंत्री के तौर पर देखेंगे। यह सारा बीजेपी का षड्यंत्र है एक बार यह तय हो जाए, फिर तय करेंगे क्या करना है।इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार है, स्पीकर जो तारीख चाहें तय कर सकते हैं।कोरोना से सुरक्षा को लेकर कमलनाथ ने कहा कि कोरोना वायरस यहां पहले राजनीति में है, बाद में देखा जाएगा।

इस बीच यह भी खबर है कि सियासी संकट के बीच प्रदेश सरकार बजट सत्र टालने का मूड बना रही है। इसके लिए कोरोना वायरस के खतरे को ढाल बनाया जा रहा है। प्रदेश के संसदीय मंत्री गोविंद सिंह ने कहा है कि कोरोना वायरस के खतरे के कारण प्रदेश में विधानसभा का बजट सत्र स्थगित किया जा सकता है।

इधर, सिंधिया समर्थक विधायक आज बेंगलुरू से भोपाल पहुंचेंगे। तीन विशेष विमान से दोपहर में सभी विधायक एयरपोर्ट पहुंचेंगे।विधानसभा अध्यक्ष के सामने सभी विधायक अपना इस्तीफा सौंपेंगे। सभी विधायकों को स्पीकर ने नोटिस जारी कर स्वयं हाजिर होने के निर्देश जारी किए थे।वही सिंधिया भाजपा की ओर से राज्यसभा के लिए नामांकन करेंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here