मोहंती के बाद इस अफसर को मिल सकती है मुख्य सचिव की जिम्मेदारी

भोपाल।
प्रदेश के मुख्य सचिव एसआर मोहंती 31 मार्च को रिटायर होने वाले हैं,इसके पहले ही नए मुख्यसचिव के नाम को लेकर चर्चा शुरू हो गई है। वैसे तो सीएस के लिए कई नाम दौड़ में आईएएस 1984 बैच के अधिकारी अपर मुख्यसचिव वन एपी श्रीवास्तव, 1985 बैच के अधिकारियों में प्रभांशु कमल, इकबाल सिंह बैंस, एम गोपाल रेड्डी व केके सिंह शामिल हैं। लेकिन एम गोपाल रेड्डी का नाम सबसे आगे चल रहा है। माना जा रहा है कि नए मुख्य सचिव की जिम्मेदारी गोपाल रेड्डी को सौंपी जा सकती है।वही वही 31 मार्च को रिटायर हो रहे सीएस एसआर मोहंती को आयोग का चेयरमैन बनाया जा सकता है।

खबर है कि रेड्डी को मुख्य सचिव बनाने को लेकर मुख्यमंत्री स्तर तक लगभग सहमति बन चुकी है। इसीलिए वे अहम बैठकों में मुख्य सचिव के साथ शिरकत करने लगे हैं। हाल ही में फाइनेंस और बजट को लेकर मुख्यमंत्री ने महत्वपूर्ण बैठक की, जिसमें मुख्य सचिव मोहंती के साथ रेड्डी शामिल हुए। माना जा रहा है कि रेड्डी के मुख्य सचिव बनने के बाद मप्र विद्युत नियामक आयोग के चेयरमैन का फैसला होगा, क्योंकि 29 फरवरी तक इसके लिए आवेदन बुलवाए गए हैं। इसकी स्क्रूटनी प्रक्रिया मार्च तक पूरी हो सकती है।अगर रेड्डी को सीएस बनाया जाता है तो वे सितंबर 2020 में रिटायर होंगे।

कौन है गोपाल रेड्डी
-मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबी।
-जल संसाधन विभाग के अपर मुख्य सचिव।
-1985 बैच के आईएएस।
-1992 से 1994 तक छिंदवाड़ा कलेक्टर रहे।
– 2015 तक केंद्रीय गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव
– दिसंबर 2015 से मार्च 2017 तक अतिरिक्त सचिव रहे।
-शिवराज सरकार में राजस्व मंडल ग्वालियर भेजे गए।