रोक के बाद 1 फरवरी को नए स्वरूप में होगा वंदे मातरम्, अब दिखेगा ख़ास नजारा

-After-the-ban

भोपाल। सत्ता में आते ही वन्दे मातरम को लेकर हुए विवाद के बाद बैकफुट पर आई कमलनाथ सरकार अब एक फरवरी को नए स्वरूप में इसे फिर से शुरू करने जा रही है| सरकार ने इसकी विशेष तयारी भी की है| हालांकि नए स्वरुप में वन्दे मातरम् गायन में खर्चा भी डबल होगा| 

दरअसल, मुख्यमंत्री कमलनाथ ने नए साल की पहली तारीख को 13 साल से चली आ रही वन्दे मातरम्प गायन की परंपरा को बंद कर दिया था। जिसको लेकर काफी बवाल हुआ| सत्ता से बेदखल हुई भाजपा को मुद्दे के तलाश थी और वन्दे मातरम् पर रोक का यह मुद्दा विपक्ष ने बढ़ चढ़ कर परोसा और आखिरकार विवाद के बाद सरकार को इसे फिर से शुरू करने का निर्णय लेना पड़ा| लेकिन बंद क्यों किया गया इस पर सवाल न खड़े हो इसको लेकर सरकार ने इसे नए स्वरुप में शुरू करने का फैसला लिया| बाकायदा सीएम ने इसका एलान किया| 


ऐसा होगा नया स्वरुप 

वल्लभ भवन के सामने पार्क में वंदे मातरम गान के लिए एक पंडाल लगाया जाएगा। गान से पहले एक रैली निकाली जाएगी। शौर्य स्मारक से सुबह 10.30 बजे प्रारंभ होकर रैली वल्लभ भवन पार्क में समाप्त होगी। इसमें पुलिस बैंड साथ रहेगा। वहीं वल्लभ भवन पार्क में संस्कृति विभाग की तरफ से कलाकार वंदे मातरम गान प्रस्तुत करेंगे। यहां मप्र पर्यटन विकास निगम द्वारा एक पुस्तक प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी। इसके अलावा पर्यटन निगम की तरफ से एक फूड कोर्ट सजाने का भी प्रस्ताव है, ताकि आयोजन में आने वाले लोग अपनी पसंद के व्यंजनों का स्वाद ले सकें।  नए फार्मेट में वंदे मातरम गान के लिए लगभग एक लाख रुपए का बजट रखा गया है, जबकि पहले इसी आयोजन पर 40 से 50 हजार रुपए खर्च होते थे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here