भोपाल| शराब दुकानों (Liquor Shop ) पर महिला पुलिसकर्मियों (Lady Police) की ड्यूटी लगाए जाने के बाद अब शिक्षकों (Teachers) की ड्यूटी पर बवाल मच गया है| अब सागर (Sagar) में पॉलिटेक्निक कॉलेज के शिक्षकों की शराब दुकानों पर ड्यूटी लगा दी गई| कॉलेज की ओर से बकायद कलेक्टर (आबकारी) का हवाला देते हुए शिक्षकों के नाम के साथ आदेश जारी कर दिया गया| मामले सामने आने के बाद बवाल मच गया| इस पर कांग्रेस ने सख्त ऐतराज जताया है। विरोध के बाद कलेक्टर द्वारा शिक्षकों की ड्यूटी के आदेश निरस्त किये जाने की खबर है|

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan singh Verma) ने ट्वीट कर शिक्षकों की शराब दुकानों पर ड्यूटी का विरोध किया| उन्होंने ट्वीट कर लिखा- ‘कुछ तो शर्म करो शिवराज, महिलाओं को शराब दुकानों पर बैठाने से भी तुम्हारा पेट नहीं भरा और अब शिक्षकों को शराब की दुकान पर बैठा रहे हो। इससे ज्यादा शर्मनाक और निंदनीय प्रदेश में कुछ और नहीं हो सकता। जनता ही जल्दी इस सत्ता के नशे को उतारेगी’।

बता दें कि इससे पहले आबकारी विभाग ने शराब दुकानों पर महिला पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई थी| जिसको लेकर काफी बवाल मचा हुआ है| इस बीच शिक्षकों की ड्यूटी भी शराब बेचने के लिए लगाई गई तो एक बार फिर सियासत तेज हो गई ओर कांग्रेस इसको लेकर सरकार की घेराबंदी कर रही है| हालाँकि बताया जा रहा है कि विरोध के बाद सरकार ने शिक्षकों की शराब दुकानों पर ड्यूटी निरस्त कर दी है और आगे से इन दुकानों के संचालन के लिए आबकारी विभाग के अलावा केवल पुलिस, होमगार्ड के कर्मचारियों की ही सेवाएं लेने का फैसला किया गया है|