कृषि मंत्री कमल पटेल एक्शन मोड में, प्रदेश के किसानों के खातों में मुआवजा राशि न पहुंचने पर दिए यह निर्देश

कमल पटेल

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में किसानों को हो रही प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना वर्ष 2020 खरीफ और 2020-21 रवि फसल की मुआवजा राशि उनके खातों में नहीं मिलने पर किसान नेता एवं कृषि मंत्री कमल पटेल एक्शन मोड पर आ गए है। उन्होंने मंत्रालय में कृषि विभाग और बीमा देने वाली एजेंसी के अधिकारियों को तलब किया और निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें… कांग्रेस और केजरीवाल पर वीडी शर्मा का पलटवार, कही बड़ी बात

प्रकृषि मंत्री ने निर्देश दिए कि देश के एक लाख 91 हजार 287 किसान जिनके बैंक खातों का केसीसी बंद हो गया, बैंक दूसरे बैंक में मर्जर हो गए आईएफसी कोड चेंज हो गया और कोऑपरेटिव बैंकों में डीएमआर खातों के कारण किसानों को मुआवजा राशि नहीं मिल पाई है। इसे ठीक करवा कर 15 अप्रैल 2022 तक शेष दावा राशि 348 करोड़ 1 लाख 55 हजार 901 रू अनिवार्य रूप से उनके खातों में जमा करवाई जाए। 15 अप्रैल तक किसानों के खातों में अगर यह राशि जमा नहीं हुई तो कृषि विभाग और बीमा कंपनियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने किसान भाइयों को निवेदन किया कि वे 15 अप्रैल तक घबराए नहीं उनके खाते में उनकी मुआवजा राशि पहुंचेगी।उन्होंने कहा कि मे मंत्री बाद में हूं पहले किसान हूँ।मैं आपका दर्द समझता हूँ।