बाढ़ प्रभावित इलाकों के दौरे पर कृषि मंत्री, ग्रामीणों की समस्याओं का मौके पर निराकरण

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल का बाढ़ प्रभावित गांवों में दौरा आज भी जारी रहा। मंत्री कमल पटेल बाढ़ प्रभावित इलाकों में भ्रमण कर राहत सामग्री का वितरण करने के साथ लोगों को समस्याओं का मौके पर ही निराकरण कर रहे हैं।

प्रदेश के अनेक जिलों में अतिवृष्टि से खराब हुई फसलों का निरीक्षण करते हुए गृह जिले हरदा पहुंचे हुए थे। वो लगातार प्रभावित गांवों का दौरा कर राहत सामग्री और सहायता राशि का वितरण करने में जुटे रहे। आज जब वो भोपाल में मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित बैठक में शामिल होने के लिए हरदा से रवाना हुए तब भी बीच में पड़ने वाले गांवों का भ्रमण करने के लिए ठहरते रहे। कमल पटेल ने प्रभावितों को गेहूं और केरोसीन का वितरण करते हुए ग्रामीणों से कहा कि वह अपने बैंक खातों का विवरण सक्षम अधिकारी को दें जिससे 5 हजार की सहायता राशि सीधे उनके खाते में ट्रांसफर कर दी जाए।

कृषि मंत्री कमल पटेल भमौरी, खेडीनीमा, जुगरिया, मनोहरपुरा, सुरजना, अजनेई गांव में निरीक्षण के लिए पहुंचे और राहत सामग्री का वितरण करने के साथ उनकी समस्याएं सुनी। ज्यादातर ग्रामीणों ने शिकायत की है कि गरीबी रेखा से नीचे वाले नीले राशनकार्ड होने के बाद भी उन्हें राशन नहीं मिल रहा है। मंत्री ने बताया कि गरीबी रेखा के नीचे वाले राशनकार्ड के बावजूद राशन से वंचित प्रदेश के 37 लाख से अधिक लोगों को 7 सितंबर से राशन मिलना शुरू हो जाएगा। हरदा जिले में इनकी संख्या 21 हजार है। कमल पटेल ने ग्रामीणों को बताया कि सूची में सभी के नाम शामिल करा दिये गये हैं, सोमवार से सभी को राशन मिलने लगेगा। कृषि मंत्री कमल पटेल ने मनोहरपुरा में एक बुजुर्ग महिला की अनाज न मिलने की शिकायत पर उनकी वृद्धावस्था पेंशन शुरू कराने के निर्देश दिए, उन्होंने पंचायत सचिव को बुलाकर निर्धारित प्रक्रिया स्वंय पूरी कराने के लिए निर्देशित करते हुए कहा कि सरकार की प्राथमिकता पीड़ितों को मदद पहुंचाना है इसलिए डिफॉल्टर किसानों को भी फसल खराब होने के बाद भी बीमा का लाभ दिलाया गया है।

नर्मदा परिक्रमा पथ में शामिल होगा अजनेई

कृषि मंत्री कमल पटेल ने ग्राम अजनेई पहुंचने से पूर्व घाट पर मां नर्मदा की आरती की। आरती में शामिल होने पहुंची कन्याओं के पैर छूकर कमल पटेल ने आशीर्वाद लिया। अजनेई में ग्रामीणों की सभा को संबोधित करते हुए मंत्री कमल पटेल ने कहा कि बाढ़ से प्रभावित लोगों की मदद करना सरकार की प्राथमिकता है, किसानों को संकट से उबारने के प्रयास भी किए जा रहे हैं। उन्होंने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि नर्मदा परिक्रमा पथ में ग्राम अजनेई को शामिल कर सुविधा जनक घाट का विकास किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here